पढ़ें: किस इलाके में कितना रहा मोदी का दबदबा

News18India.com
Updated: December 21, 2012, 7:16 AM IST
पढ़ें: किस इलाके में कितना रहा मोदी का दबदबा
गुजरात के नतीजे बताते हैं कि केशुभाई पटेल की नई पार्टी के बावजूद मोदी को ज्यादा नुकसान नहीं पहुंचा। राज्य के हर इलाके में मोदी को कामयाबी मिली है।
News18India.com
Updated: December 21, 2012, 7:16 AM IST
नई दिल्ली। गुजरात के नतीजे बताते हैं कि केशुभाई पटेल की नई पार्टी के बावजूद मोदी को ज्यादा नुकसान नहीं पहुंचा। राज्य के हर इलाके में मोदी को कामयाबी मिली है। खास तौर पर इस बार दक्षिण गुजरात में बीजेपी की सीटों में खासा इजाफा हुआ है।

जिस सौराष्ट्र और कच्छ के लिए कहा जा रहा था कि यहां बीजेपी को केशुभाई पटेल भारी नुकसान पहुंचाएंगे, वहां मोदी को सिर्फ 8 सीटों का नुकसान हुआ। 2007 के चुनाव में सौराष्ट्र की 58 सीटों पर बीजेपी को 43 और कांग्रेस को 14 सीटें मिली थीं। इस बार बीजेपी को 35, कांग्रेस को 16 और जीपीपी को दो सीटें मिलीं। एक निर्दलीय भी जीता। आंकड़ों से साफ है कि बीजेपी को सौराष्ट्र में सिर्फ 8 सीटों का नुकसान हुआ। दक्षिण गुजरात की 35 सीटों में बीजेपी को 28 सीटों पर जीत हासिल हुई। 2007 में बीजेपी को यहां महज 19 सीटें मिली थीं।

बीजेपी को दक्षिण में 9 सीटों का नफा हुआ। कांग्रेस का आंकड़ा 14 सीटों से फिसलकर 6 पर आ गया। जहां तक मध्य और उत्तरी गुजरात का सवाल है तो नतीजों में ज्यादा फर्क नहीं रहा। मध्य और उत्तर गुजरात की 93 सीटों में से 53 सीटों पर कमल खिला। 2007 में बीजेपी को 55 सीटें मिली थी।





First published: December 21, 2012
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर