BJP और RSS दे रहे हैं हिंदू आतंकवाद को बढ़ावा: शिंदे

News18India
Updated: January 20, 2013, 8:23 AM IST
News18India
Updated: January 20, 2013, 8:23 AM IST
जयपुर। केंद्रीय गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे ने कहा है कि उन्हें खबर मिली है की बीजेपी और आरएसएस अपने ट्रेनिंग कैम्प्स में हिन्दू आतंकवाद बढाने का काम कर रहे हैं। ऐसा कहकर गृह मंत्री ने बीजेपी और आरएसएस पर सीधे निशाना साधा है और उन्हें सीधे-सीधे हिन्दू आतंकवाद बढ़ाने का जिम्मेदार ठहरा दिया है। शिंदे ने खुफिया सूचनाओं के आधार पर ये खुलासा किया है।
बीजेपी नेताओं को गृह मंत्री का ये बयान कतई रास नहीं आ रहा है। बीजेपी नेता गिरिराज सिंह ने कहा है कि कांग्रेस अपने गिरेबान में झांक कर देखें। बीजेपी अध्यक्ष नितिन गडकरी ने सुशील कुमार शिंदे के बयान की निंदा करते हुए कहा कि बीजेपी धर्म और जाति की राजनीति नहीं करती। उन्होंने कहा कांग्रेस के पास आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई करने की हिम्मत नहीं है।
शहनवाज हुसैन ने कहा कि ये दुर्भाग्यपूर्ण है और बीजेपी इसके निंदा करती है। उन्होंने कहा कि गृहमंत्री का ये गैर जिम्मेदाराना बयान है। ये देश के हिता में दिया हुआ बयान नहीं है।
आरएसएस नेता राम माधव सुशील कुमार शिंदे के बयान की कड़ी निंदा की है। उन्होंने कहा कि अपने नेताओं के खुश करने के लिए गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे को इस तरह का अनाप-शनाप बयान नहीं देना चाहिए था। नेताओं को खुश करने के कई तरीके होते हैं। इस तरह के गलत बयान देकर नेताओं को खुश करना गलत है। साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस हिंदू आतंकवाद के मुद्दा उठाकर वोट का लाभ पाने की कोशिश कर रही है।

कांग्रेस के नेता राजीव शुक्ला ने कहा है कि शिंदे के बयान को ठीक तरह से समझा नहीं गया। गृह मंत्री का मतलब हिन्दू आतंकवाद नहीं दक्षिण पंथी आतंकवाद से है। मणिशंकर अय्यर ने शिंदे के बयान का स्वागत किया है और उससे पूरी तरह समहति जताई है।
कांग्रेस प्रवक्ता राशिद अल्वी का कहना है कि अगर शिंदे ऐसा बयान दिया है तो उनके जरूर कोई सबूत होगा। कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने सुशील कुमार शिंदे के बयान को सही ठहराया है।
वहीं बयान पर विवाद होने के बाद सुशील कुमार शिंदे जब मीडिया के सामने आए तो उन्होंने अपनी बात को फिर से दोहरा दिया। शिंदे ने कहा कि उन्होंने नया कुछ नहीं कहा है जो कहा वो पहले से अखबारों में छप चुके हैं।

First published: January 20, 2013
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर