सूर्यनेल्ली केस:कुरियन के खिलाफ FB कमेंट में 111 पर केस

CNN-IBN

Updated: February 25, 2013, 8:28 AM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

तिरुवनंतपुरम। सूर्यनेल्ली रेप केस में आरोपों से घिरे राज्यसभा के उपसभापति पी जे कुरियन के खिलाफ फेसबुक पर कमेंट करने वाले 111 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। इन लोगों पर कुरियन के खिलाफ असंसदीय टिप्पणी करने का आरोप लगाया गया है।

केरला की महिला कांग्रेस लीडर बिंदु कृष्णा ने केरल पुलिस की साइबर सेल में कुरियन के खिलाफ अमर्यादित टिप्पणी करने का मामला दर्ज कराया था। इसी आधार पर 111 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

सूर्यनेल्ली केस:कुरियन के खिलाफ FB कमेंट में 111 पर केस
सूर्यनेल्ली रेप केस में आरोपों से घिरे राज्यसभा के उपसभापति पी जे कुरियन के खिलाफ फेसबुक पर कमेंट करने वाले 111 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

दो दिन पहले ही रेप पीड़ित लड़की ने पुलिस में अर्जी देकर कुरियन को भी आरोपी बनाए जाने की मांग की थी। चिंगावनम पुलिस थाने में दी गई इस अर्जी में जमानत पर छोड़े जाने के बाद फरार हुए धर्मराजन, कर्नाटक से हाल में गिरफ्तार एक शख्स और दो व्यक्तियों उन्नीकृष्णन और जमाल को भी आरोपी बनाए जाने की मांग की गई थी।

पीड़ित लड़की के मुताबिक धर्मराजन ने एक टीवी चैनल में कहा था कि 19 फरवरी 1996 को वो कुरियन के साथ रेस्ट हाउस जाने के दौरान उस कार में मौजूद था जहां लड़की का यौन शोषण हुआ था। पीड़ित लड़की के मुताबिक सहायक सब इंस्पेक्टर ने शिकायत तो ले ली थी, लेकिन यह कहते हुए केस दर्ज करने से इनकार कर दिया कि अभी सब इंस्पेक्टर नहीं हैं।

क्या है मामला?

केरल के इदुक्की जिले में 1996 को घटित हुए सनसनीखेज सूर्यनेल्ली यौन प्रताड़ना मामला एक 16 वर्षीय किशोरी के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म से जुड़ा है। एक बस कंडक्टर ने पीड़िता का अपहरण कर लिया और उसके साथ 45 दिनों तक 42 लोग दुष्कर्म करते रहे। इसके बाद उसे जुबान बंद रखने या इसका खामियाजा भुगतने की धमकी देकर छोड़ दिया गया था। पीड़िता ने अपने साथ घटित 17 साल पहले की घटना में शामिल आरोपियों में पी जे कुरियन के भी शामिल होने की बात बार-बार दोहराई है।

मामले में निचली अदालत ने 35 को सजा सुनाई थी, लेकिन 2005 में केरल हाईकोर्ट ने इनमें से एक को छोड़ शेष सभी को बरी कर दिया। सुप्रीम कोर्ट ने 31 जनवरी को हाईकोर्ट का फैसला रद्द करते हुए मामले की दोबारा सुनवाई के आदेश दिए। चूंकि पीड़िता और उसके परिजनों ने बार-बार कहा है कि कुरियन को आरोपी के रूप में नामित होने के बावजूद बगैर कुछ किए आसानी से छोड़ दिया गया।

परिजनों के इस आरोप के बाद वामपंथियों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। तीन दिनों पहले शुरू हुए केरल विधानसभा के बजट सत्र में सूर्यनेल्लि यौन प्रताड़ना मामला कामकाज में बाधा साबित हो रहा है। इस मामले को लेकर विपक्ष का हंगामा जारी है।

First published: February 25, 2013
facebook Twitter google skype whatsapp