केजरीवाल सरकार को धमकी, 'आप' बेपरवाह

News18India
Updated: February 2, 2014, 11:29 AM IST
News18India
Updated: February 2, 2014, 11:29 AM IST
नई दिल्ली। दिल्ली में तकरीबन एक माह पुरानी अरविंद केजरीवाल की सरकार खतरे में है। पार्टी से निकाले गए विधायक विनोद कुमार बिन्नी और सरकार को समर्थन दे रहे दो अन्य विधायकों ने सरकार को 48 घंटे का अल्टीमेटम दिया है। इनकी मांग है कि 48 घंटे के अंदर सरकार न्यूनतम साझा कार्यक्रम बनाए वर्ना वो समर्थन वापसी पर विचार कर सकते हैं। बिन्नी के अलावा जिन दो विधायकों ने समर्थन वापसी पर विचार करने की धमकी दी है उनमें जेडीयू विधायक शोएब इकबाल और निर्दलीय विधायक रामवीर सिंह शौकीन शामिल हैं। इनका दावा है कि इनके साथ और भी दो विधायक हैं।

बिन्नी और शोएब इकबाल की इस धमकी से आम आदमी पार्टी बेपरवाह दिखाई दे रही है। पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय सिंह ने कहा कि 48 घंटे तो क्या अगर 48 मिनट में भी वो सरकार गिराना चाहें तो गिरा सकते हैं। इनकी मांगें ऐसी हैं जो मानी नहीं जा सकतीं। हमारी सरकार ने 30 दिन में बहुत अच्छा काम किया है। दिल्ली के साथ चार और राज्यों के भी चुनाव हुए, वहां कि सरकारों ने इन दिनों में क्या किया, ये भी देखा जाना चाहिए। हमारी सरकार से कॉरपोरेट की हालत खराब है इसलिए केजरीवाल को धड़ाधड़ नोटिस भेजे जा रहे हैं।

गौरतलब है कि आम आदमी पार्टी की सरकार को विधानसभा में बहुमत प्रस्ताव पर हुई वोटिंग में 37 वोट मिले थे, जिनमें से 28 पार्टी के, 7 कांग्रेस के जबकि दो शोएब इकबाल और रामवीर सिंह शौकीन के थे। आज आम आदमी पार्टी से निकाले गए विधायक बिन्नी और शोएब व रामवीर एक मंच पर आए और उन्होंने सरकार को चेतावनी देते हुए प्रेस कांफ्रेंस की। इन तीन विधायकों ने अगर सरकार के विरोध में बीजेपी के 32 विधायकों के साथ वोटिंग कर दी तो सरकार गिर जाएगी।

इन विधायकों का कहना है कि आम आदमी पार्टी ने जनता से जो वादे किए थे, वो उन्हें पूरा करने में नाकाम रही है। बिन्नी ने धमकी भरे लहजे में कहा है कि अगर सरकार ने उनकी मांगें नहीं पूरी कीं तो वो संयुक्त मोर्चा बनाएंगे। बिन्नी ने दावा किया है कि उनके साथ पांच विधायक हैं जो कल दोपहर को एक बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस में साथ नजर आएंगे।

विनोद कुमार बिन्नी ने कहा कि हमारे पास ऐसे लोगों की लिस्ट है जो बिजली बिल न भरने के चलते जेल में हैं लेकिन सरकार उनकी मदद करने की बजाय लोकसभा चुनाव की चिंता में लगी है। महिलाओं के लिए स्पेशल फोर्स नहीं बनी, कॉमनवेल्थ घोटाले की जांच नहीं हुई, विधायक निधि को भी रोक दिया गया है जो कि पिछले 20 साल में कभी नहीं हुआ। बिन्नी ने बिजली पर सरचार्ज हटाने, मुफ्त पानी के साथ शर्त न लगाने, महिला सुरक्षा दल बनाने, कॉमनवेल्थ घोटाले की जांच के आदेश देने की मांग की है।

जेडीयू विधायक शोएब इकबाल ने कहा कि आम आदमी पार्टी ने जनता से बड़े बड़े वादे किए थे लेकिन एक महीने में वो कोई भी वादा पूरा नहीं कर पाए। इनमें से कुछ लोग हैं जिनकी जुबान सही नहीं है। ईमानदारी का सर्टिफिकेट यही लोग देते हैं और बेईमानी का सर्टिफिकेट भी ये देते हैं। यहां सरकार कौन चला रहा है पता नहीं। सचिवालय कैसे चल रहा है ये भी नहीं पता। ये सारे लोग दिल्ली के भी नहीं हैं। एक दो साल से ही दिल्ली में हैं।
First published: February 2, 2014
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर