रिपोर्ट कार्ड: कैसा रहा ज्योतिरादित्य का काम?

News18India
Updated: March 1, 2015, 2:16 PM IST
News18India
Updated: March 1, 2015, 2:16 PM IST

नई दिल्ली। 43 साल के ज्योतिरादित्य सिंधिया का रिश्ता ग्वालियर को राजघराने से है। वह माधव राव सिंधिया के बेटे हैं और फिलहाल गुना से सांसद। ज्योतिरादित्य ने मुंबई के कैंपियन स्कूल, दून स्कूल और हॉवर्ड यूनिवर्सिटी से शिक्षा हासिल की है। 1994 में उन्होने वड़ौदा राजघराने की प्रियदर्शिनी राजे गायकवाड़ से शादी की। पिता की हवाई दुर्घटना में मृत्यु के बाद ज्योतिरादित्य ने राजनीति में कदम रखा। 2002 में पिता की ही सीट गुना से सांसद चुने गए। यूपीए के दूसरे कार्यकाल में उन्होने मंत्री पद संभाला और इस वक्त उर्जा मंत्रालय में राज्यमंत्री हैं।

गुना की जनता तक पहुंच के मामले में ज्योतिरादित्य को 10 में से 4.28 अंक मिले हैं। नौजवानों को रोजगार मुहैया कराने के मुद्दे पर 4.43 अंक तो चिकित्सा व्यवस्था के नाम पर गुना ने ज्योतिरादित्य को 10 में से 5.19 अंक दिए। कानून व्यवस्था को लेकर गुना की जनता ने ज्योतिरादित्य को 5.15 अंक ही दिए सार्वजनिक परिवहन सुविधा के नाम पर 5.23 अंक मिले तो सड़कों के नाम पर 5.11, स्कूल की सुविधा के मामले में 5.37 अंक मिले तो पीने के पानी को लेकर केवल 4.93 अंक, महिला सुरक्षा के नाम पर ज्योतिरादित्य को गुना ने 10 में से 4.89 अंक दिए।

जहां तक सांसद पर भरोसे का सवाल है तो ज्योतिरादित्य को 4.50 अंक मिले। इन तमाम मुद्दों और कसौटियों पर बतौर सांसद हमारे सामने ज्योतिरादित्य का पूरा रिपोर्ट कार्ड था। इस रिपोर्ट कार्ड में ज्योतिरादित्य को 10 के पैमाने पर फाइनल रेटिंग मिली 4.49। इस लिहाज से बतौर सांसद ज्योतिरादित्य का प्रदर्शन 50 प्रतिशत से कुछ कम ही ठहरता है।

First published: March 25, 2014
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर