RSS एजेंट के आरोप पर अन्ना ने दिया ये जवाब

News18India
Updated: April 30, 2017, 10:44 PM IST
News18India
Updated: April 30, 2017, 10:44 PM IST
समाज सेवी अन्ना हजारे पर आरोप लगा कि वो आरएसएस और बीजेपी के एजेंट हैं. इस मुद्दे पर न्यूज18इंडिया ने अन्ना हजारे से बात की और उनका पक्ष जाना. न्यूज18इंडिया से बातचीत में अन्ना ने कश्मीर मुद्दे से लेकर आम आदमी पार्टी तक हर मुद्दे पर खुलकर अपनी राय रखी. वहीं खुद को आरएसएस का एजेंट बताए जान पर सफाई दी है.

पढ़ें : अन्ना से बातचीत के कुछ अंश:

सवाल: तीन साल में बीजेपी पर कई भ्रष्टाचार के आरोप लगे लेकिन आपने कभी कोई आंदोलन क्यों नहीं किया? क्या आप सिर्फ कांग्रेस के खिलाफ ही आंदोलन करेंगे?

अन्ना: अभी सिर्फ तीन साल हुए हैं.सरकार को थोड़ा टाइम देना चाहिए.उनके हाथ में जादू की छड़ी नहीं हैं. हर बार अनशन से कुछ नहीं होता. अनशन स्टंट नहीं होना चाहिए.

सवाल: एमपी में इतना बड़ा व्यापम घोटाला हुआ फिर भी आप खामोश क्यों हैं, क्यों अन्ना हजारे इस पर अनशन नहीं कर रहें हैं ?

अन्ना: क्या हर बार अन्ना हजारे को ही अनशन करना पड़ेगा. मध्यप्रदेश इतना बड़ा राज्य है हर आदमी का कर्तव्य है हर बार अन्ना हजारे ही क्यों अनशन करें?

सवाल: कश्मीर हो या नक्सली हमले में हर जगह सैनिक शहीद हो रहें हैं. आप हर बार अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हैं लेकिन सैनिकों की शहादत पर आप क्यों कुछ नहीं कहते हैं?

अन्ना : मैंने सैनिकों के बारे में हर बार कहा है. जवान सियाचिन में बर्फ में रहता है. राजस्थान में 50 डिग्री तापमान में सुरक्षा करतें हैं लेकिन उनके बारे में कोई नहीं सोचता. संसद में बैठने वालों की तनख्वाह 50 हजार है. अभी सब कह रहे हैं कि 1 लाख़ तनख्वाह हो. ऐसा कौन सा काम कर रहें हैं. जवानों के बारे में सोचना जरूरी है.

सवाल : आप पर आरोप है कि आप बीजेपी-आरएसएस के एजेंट हैं ?

अन्ना: आरोप लगाने वालों को पता नहीं है कि मेरी वजह से महाराष्ट्र में शिवसेना-बीजेपी की सरकार चली गई थी. हमारे लिए कोई राजनितीक दल नहीं है. सिर्फ समाज और देश सबसे अहम हैं.

सवाल : मतलब आप पर जो आरएसएस का एजेंट होने का आरोप लगा रहें हैं वो सब गलत हैं ?

अन्ना : जिस कलर का चश्मा आंख पर होता है उसे वहीं दिखाई देता है. वैसी ही दुनिया दिखाई देती है.

सवाल : कभी कोई भी गलती हो तो अरविंद केजरीवा के बारे में आप हर बार कुछ ना कुछ कहते रहते हैं लेकिन बीजेपी या फिर नरेंद्र मोदी के बारे में क्यों कुछ नहीं कहते हैं?

अन्ना : ऐसा कुछ नहीं है, मैंने पीएम को कहा है कि लोकपाल को लेकर फिर रामलीला मैदान में बैठना पड़ेगा. पीएम को कई लेटर भेजे हैं. अगले लेटर में अब अनशन की डेट भी लिखूंगा.

सवाल : यानी आप बीजेपी सरकार के खिलाफ आंदोलन करने का मन बना चुके हैं?

अन्ना : लोकपाल कानून को लेकर तीन साल से सरकार को लेटर लिख रहा हूं. इतना अहम कानून है.पूरा देश सड़क पर उतर गया था लोकपाल के लिए अगर सरकार को ये सब याद नहीं हैं तो दूसरा क्या रास्ता बचा है.
First published: April 30, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर