अरुणाचल के पूर्व सीएम कालिखो पुल का शव पंखे में लटका मिला, खुदकुशी की आशंका

News18India.com
Updated: August 9, 2016, 2:43 PM IST
अरुणाचल के पूर्व सीएम कालिखो पुल का शव पंखे में लटका मिला, खुदकुशी की आशंका
News18India.com
Updated: August 9, 2016, 2:43 PM IST
नई दिल्ली। अरुणाचल प्रदेश के पूर्व सीएम कालिखो पुल की संदिग्ध मौत हो गई है। उनकी लाश घर पर पंखे से लटकी मिली। आशंका जताई जा रही है कि उन्होंने आत्महत्या की है। इस घटना के बाद राजनीतिक गलियारे में हलचल मची हुई है और हर कोई इस खबर से सन्न है।

कुछ समय के लिए अरूणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके कांग्रेस के बागी कलिखो पुल ने कथित तौर पर आत्महत्या कर ली है। पुलिस के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि 47 वर्षीय पुल ने अपने बेडरूम में कथित तौर पर फांसी लगा ली। उन्हें मुख्यमंत्री के आधिकारिक आवास पर मृत पाया गया।

उन्होंने अभी इस आवास को खाली करना था। पुल की तीन में से एक पत्नी ने उन्हें आज सुबह लटका हुआ पाया। उनकी तीन पत्नियां और चार बच्चे हैं। पुल की मौत की खबर फैलते ही सत्ताधारी और विपक्षी दलों के विधायक, दोस्त और जनता उनके बंगले की ओर रवाना हो गए।

मौत के पीछे की वजहें अभी तक स्पष्ट नहीं हैं। पुल ने इस साल 19 फरवरी को राज्य की सत्ता की कमान संभाली थी। वह कुछ समय के लिए मुख्यमंत्री रहे। जुलाई में उच्चतम न्यायालय ने नबाम तुकी की वापस बहाली कर दी। तुकी ने 10वें मुख्यमंत्री के रूप में पेमा खांडू को रास्ता दिया।

कालिखो पुल कांग्रेस से बगावत कर बीजेपी की मदद से सीएम बने थे। कांग्रेस के पूर्व सीएम नबाम तुकी से अलग होकर कांग्रेस का जो धड़ा बना था उसी की पुल अगुवाई कर रहे थे। वह करीब 3 महीने तक अरुणाचल के सीएम रहे।  लेकिन सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद उन्हें सीएम की कुर्सी छोड़नी पड़ी थी।

अरुणाचल प्रदेश के भाजपा अध्यक्ष तापर गोअव ने कहा कि हमें दुख है, हमें खेद है। वह एक अच्छे नेता थे। आज के अरुणाचल के नेताओं की स्थिति के लिए दिल्ली के कांग्रेस नेता जिम्मेदार हैं। मैं कांग्रेस को ब्लेम करता हूं। कैसे हुआ, क्यूं हुआ ऐसा, ये तो धीरे धीरे पता चलेगा।

अरुणाचल टाइम्स के रिपोर्टर तबा अजुम ने बताया कि पुलिस जांच कर रही है कि उन्होंने सुसाइड क्यूं किया। उनके घर के बाहर लोग धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। उनके बंगले में निर्माण कार्य चल रहा था। वह बहुत मज़बूत लीडर थे, पता नहीं उन्होंने ऐसा क्यूं किया।

वहीं राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने भी इस खबर पर दुख जताया। उन्होंने ट्वीट किया- युवा नेता कालिखो पुल की मौत की खबर से सकते में हूं, उनका योगदान हमेशा याद रखा जाएगा।

First published: August 9, 2016
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर