आडवाणी, उमा पर क्रिमिनल केस: कांग्रेस ने मांगा इस्तीफा, कटियार की ना

News18Hindi
Updated: April 19, 2017, 12:01 PM IST
आडवाणी, उमा पर क्रिमिनल केस: कांग्रेस ने मांगा इस्तीफा, कटियार की ना
Image Source: FIle Photo
News18Hindi
Updated: April 19, 2017, 12:01 PM IST
बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाया है. वरिष्ठ बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और केंद्रीय मंत्री उमा भारती समेत 10 लोगों को एक बड़ा झटका देते हुए सभी पर आपराधिक मुकदमा चलाने की मंजूरी दे दी है.

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद कांग्रेस और दूसरे विपक्षी दलों की तरफ से केंद्रीय मंत्री उमा भारती और राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह के इस्तीफे की मांग ने जोर पकड़ना शुरू कर दिया है.

कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने उमाभारती से इस्तीफा मांगा है. भाजपा नेता विनय कटियार का मानना है कि किसी को इस्तीफा देने की जरूरत नहीं है.

बाबरी विध्वंस मामले में आडवाणी, जोशी और उमा पर चलेगा क्रिमिनल केस

बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी
बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी के कन्वेनर ज़फरयाब जिलानी ने कोर्ट के फैसले पर कहा कि इसका संबंध मस्जिद बनाने से नहीं है, ये उन लोगों के ऊपर आरोप से है. अगर ये लोग साजिश में शामिल थे तो सजा होगी.

विनय कटियार
हमें इस्तीफा देने की अभी कोई ज़रूरत नहीं है, कोई शिष्टाचार नहीं है. हम चाहते हैं के राम मंदिर जल्दी बनें उसके लिए जेल जाना पड़ें तो जाएंगे. राम मंदिर के लिए हम सभी को जेल जाना पड़े तो तैयार हैं. उमा भारती को भी इस्तीफा नहीं देना चाहिए. विपक्ष की बची कुची ज़मानत भी जल्दी जब्त हो जाएगी.

बाबरी केस : 1528 से लेकर आजतक, पढ़ें कब-कब क्या हुआ ?

जीवीएल नरसिम्हा राव (बीजेपी)
मैं कांग्रेस को याद दिलाना चाहता हूं कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी भी अंडर ट्रायल हैं और फिलहाल बेल पर बाहर हैं. हम कोर्ट का फैसला पढ़ेंगे और उसके बाद ही कोई प्रतिक्रिया देंगे.

सुधींद्र कुलकर्णी
बाबरी विध्वंस मामले की मैं निंदा करता हूं लेकिन लालकृष्ण आडवाणी इस साज़िश का हिस्सा नहीं थे. उन्होंने तो इसे अपनी जिंदगी का सबसे दुःख भरा दिन बताया था.

सलमान अनीस सोज़ (कांग्रेस)
उमा भारती और कल्याण सिंह को अपने पद की गरिमा रखते हुए इस्तीफ़ा दे देना चाहिए. पीएम और राष्ट्रपति को इसके बारे में सोचना चाहिए.

फैजाबाद के इमाम
बिल्कुल केस चलना चाहिए, अगर कोई आरोपी है तो उसे छोड़ा नहीं जा सकता है फिर वो किसी भी पद पर हो, ऐसे होगा तो लोग जुल्म करके पद पर बैठ जाएं, कानून सभी के लिए बाराबर है. संविधान में जो कुछ लिखा है फैसला उसके आधार पर फैसला आएगा और हम उसे स्वीकार करते हैं. बातचीत से मसले को सुलझाया जा सकता है.

शहजाद पूनावाला
सुप्रीम कोर्ट के इस कदम के बाद उमा भारती और कल्याण सिंह को अपने पदों से तुरंत इस्तीफ़ा दे देना चाहिए जिससे कोर्ट अपना काम ठीक से कर सके. सभी जांच एजेंसियों को बिना दबाव के जांच करने की छूट दी जनि चाहिए जिससे दोषियों को उनके अंजाम तक पहुंचाया जा सके.
First published: April 19, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर