बीजेपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी: मोदी ही करेंगे लीड, मुस्लिमों में बढ़ाएंगे आधार

आईएएनएस
Updated: April 16, 2017, 11:39 PM IST
बीजेपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी: मोदी ही करेंगे लीड, मुस्लिमों में बढ़ाएंगे आधार
Image Source: PTI
आईएएनएस
Updated: April 16, 2017, 11:39 PM IST
ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर में जारी भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की दो दिवसीय बैठक रविवार को समाप्त हुई. विकास के एजेंडे पर जोर देते हुए बीजेपी ने 2019 में सत्ता बनाए रखने के लिए एक मिशन की शुरुआत की. इसके लिए गरीबों को लुभाने की नीति और मुस्लिमों के एक वर्ग में आधार बढ़ाने की रणनीति पर जोर दिया गया.

ट्रिपल तलाक़, मुसलमान सम्मेलन और अवॉर्ड वापसी समेत मोदी ने कही ये 8 बड़ी बातें

दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी के आखिरी दिन भाजपा के राजनीतिक प्रस्ताव से ये संकेत मिलता है कि वो अपने साथ दूसरे नए सामाजिक समूहों को जोड़ने पर ध्यान केंद्रित करेगी. यहां तक कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी मुस्लिम समुदाय को आकर्षित करने की कोशिश की. इसमें मुस्लिम महिलाएं और गरीब शामिल रहे.

तीन तलाक का मुद्दा रहा अहम

तीन तलाक को एक 'खराब सामाजिक प्रथा' करार देते हुए मोदी ने कहा कि इस तरह की चीजें सामाजिक जागरूकता के जरिए खत्म की जा सकती है. उन्होंने कहा कि भाजपा इस मुद्दे विवाद नहीं चाहती. मोदी की यह टिप्पणी कार्यकारिणी के समापन अवसर पर आई.

ओडिशा में मोदी: तीन तलाक़ से मुस्लिम बहनें परेशान, अवॉर्ड वापसी वाले कहां हैं?

वहीं, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने पीएम मोदी के हवाले से कहा कि जहां तक सामाजिक न्याय का सवाल है हमारी मुस्लिम बहनों को भी न्याय मिलना चाहिए. मोदी ने कहा कि हमें समाज में संघर्ष की इजाजत नहीं देनी चाहिए. हम इस मुद्दे पर मुस्लिम समाज में कोई संघर्ष नहीं चाहते है. हमें इन बुरी प्रथाओं को सामाजिक जागरूकता से खत्म करने की जरूरत है.

तीन तलाक पर बोला मुस्लिम लॉ बोर्ड - पर्सनल लॉ में दखल बर्दाश्त नहीं

इससे पहले नए ओबीसी आयोग पर पारित प्रस्ताव पर चर्चा में दखल देते हुए मोदी ने कहा कि मुस्लिम भी पिछड़े और हाशिए पर हैं और सरकार को उनकी चिंताओं पर ध्यान देना चाहिए. भाजपा सूत्रों ने कहा कि मोदी ने पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं से पिछड़े मुस्लिमों और महिलाओं के मुद्दे पर जिला स्तर की बैठकों में चर्चा करने को कहा.

मोदी ने की विपक्ष की राजनीति की निंदा

साथ ही विपक्ष पर मुद्दों को गढ़ने का आरोप लगाते हुए मोदी ने कहा कि ऐसा लगता है कि विपक्षी इन मुद्दों को कुछ कारखानों में बनाते हैं. उन्होंने कहा कि दिल्ली चुनावों के समय गिरजाघरों पर हमले की घटना को उजागर किया गया और बिहार चुनावों के समय अवॉर्ड वापसी मुद्दा रहा. मौजूदा समय में ईवीएम मुद्दा है.

सीएम योगी के मंत्री ने कुछ ऐसे बताई लाल बत्ती की ताकत....

राज्यसभा में ओबीसी (अन्य पिछड़ा वर्ग) आयोग को संवैधानिक दर्जा देने संबंधित विधेयक के विरोध पर कांग्रेस और विपक्षी दलों की निंदा की. पार्टी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों ने गरीबों को लाभ से वंचित कर दिया. केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि इन पार्टियों ने हमेशा समाज के पिछड़े वर्गों के हितों को दबाया है और उन्हें सिर्फ झूठी उम्मीदें दी हैं.

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की दो दिवसीय बैठक में पारित राजनीतिक प्रस्ताव में कहा गया है कि प्रधानमंत्री ने बीते तीन सालों के अपने कार्यकाल में कठिन परिश्रम से अपनी कथनी को करनी में बदला है और लोगों के बीच विश्वास बनाया है. बयान में कहा गया कि भाजपा विकास और सभी के लिए कल्याणकारी नीतियों के क्रम में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में 2019 में सरकार बनाने के लिए अपने देश के लोगों से प्रतिज्ञा लेने का आह्वान करती है.
VIDEO: 2019 से पहले योगी के सामने है ये बड़ी चुनौती

इसके साथ ही इस बैठक में सरकार के संसद में जीएसटी विधेयक पारित करवाने की तारीफ की गई. साथ ही सभी क्षेत्रों में आर्थिक गतिविधियों को गति देने के लिए बजट में एक अनुशासन बनाने में सफलता हासिल करने के प्रयासों की भी सराहना हुई. प्रस्ताव में कहा गया है कि मोदी की अगुवाई में भारत की साख में वैश्विक स्तर पर बढ़ोत्तरी हुई है.

विश्व में बढ़ रही है भारत की लोकप्रियता

प्रस्ताव के अनुसार अब दुनिया भारत की तरफ देख रही है. विकसित देशों की सभी प्रमुख रिपोर्ट और विश्लेषणों में भारत को संभावनाओं का देश माना गया है. इसमें बताया गया कि दुनिया के देशों के साथ भारत के संबंधों में सुधार हुआ है. भारत की विश्वसनीयता व्यापार, रणनीतिक और कूटनीतिक मंचों पर खास तौर से बढ़ी है.
First published: April 16, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर