पंजाब सरकार ने खत्म किया 'लाल बत्ती' कल्चर

आईएएनएस

Updated: March 18, 2017, 7:02 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

पंजाब की सत्ता में लौटने के साथ ही मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने एक बड़ा बदलाव किया है. पंजाब मंत्रिमंडल की पहली बैठक में निर्णय लिया गया है कि मुख्यमंत्री, विधायक और शीर्ष अधिकारी अपनी सरकारी गाड़ियों में लाल बत्ती का इस्तेमाल नहीं करेंगे. पंजाब के वित्तमंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने बैठक के बाद इस बात की जानकारी दी.

मनप्रीत सिंह ने बताया लाल बत्ती नहीं लगाने के फैसले के अलावा, विधायक और मुख्यमंत्री न कोई शिलान्यास करेंगे और न ही उद्धघाटन करेंगे. बादल ने कहा कि 100 या 200 करोड़ रुपए की बड़ी परियोजनाओं में भी मुख्यमंत्री और मंत्रियों के नाम शिलान्यास पट्टिका या उद्घाटन पट्टिका पर नहीं लिखे जाएंगे. उन्होंने बताया कि शिलापट्टिका पर किसी नेता या मंत्री के नाम की जगह, जनता के योगदान का जिक्र होगा. उन्होंने कहा एक वाक्य में लिखा रहेगा कि ये परियोजना करदाताओं के पैसे से पूरी की गई है.

पंजाब सरकार ने खत्म किया 'लाल बत्ती' कल्चर
पंजाब मंत्रिमंडल की पहली बैठक में निर्णय लिया गया है कि मुख्यमंत्री, विधायक और शीर्ष अधिकारी अपनी सरकारी गाड़ियों में लाल बत्ती का इस्तेमाल नहीं करेंगे.

आपको बता दें कि पंजाब में दूसरे स्थान पर रही आम आदमी पार्टी ने भी लाल बत्ती कल्चर को खत्म करने की बात कही थी. गौरतलब है कि अमरिंदर सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस सरकार ने पंजाब में 16 मार्च को सत्ता संभाली. विधानसभा चुनाव में 77 सीटों पर जीत हासिल करने वाली कांग्रेस के लिए ये फैसला अहम माना जा सकता है.

First published: March 18, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp