यूपी का सीएम बनते ही योगी आदित्यनाथ के सामने होंगी ये तीन बड़ी चुनौतियां

News18Hindi

Updated: March 18, 2017, 9:36 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

गोरखपुर से पांच बार लगातार सांसद रहे हिंदुत्ववादी छवि वाले नेता योगी आदित्यनाथ रविवार को यूपी के 21वें सीएम पद की शपथ ले लेंगे. उनके आलावा यूपी में केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश सिंह को डिप्टी सीएम बनाया गया है. लोकसभा चुनावों में 73 लोकसभा सीटें जीतने के बाद यूपी विधानसभा चुनावों में भी जनता ने बीजेपी को 312 सीटें जिताकर ऐतिहासिक जनादेश दिया है. बीजेपी के घोषणापत्र पर नज़र डालें तो योगी की हिंदुत्ववादी इमेज के चलते कुछ ऐसी घोषणाएं हैं जिन्हें पूरा करना अब उसके लिए बेहद ज़रूरी हो जाएगा. आइए जानते हैं ऐसे कौन से तीन वादे हैं जो योगी के लिए चुनौती बन सकते हैं...

1. राम मंदिर:

यूपी का सीएम बनते ही योगी आदित्यनाथ के सामने होंगी ये तीन बड़ी चुनौतियां
Photo: Facebook

राम मंदिर एक ऐसा मुद्दा है जिसने पहली बार बीजेपी को सत्ता तक पहुंचाने का काम किया था, लेकिन अभी तक भी उसका ये वादा अधूरा ही है. हालांकि अब स्थितियां बदल गई हैं और केंद्र के साथ यूपी में भी बीजेपी की ऐतिहासिक बहुमत वाली सरकार है. बीजेपी काफी समय से कहती आई है कि यूपी में पूर्ण बहुमत आने पर राम मंदिर बनाया जाएगा, हालांकि वो ये भी कहती है कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद ही यह बनाया जाएगा. योगी से उम्मीद की जाएगी कि उनके सीएम बनने पर रामजन्म भूमि पर मंदिर बनाने का वादा पूरा किया जाए.

...जब संसद में फूट-फूट कर रोये थे योगी आदित्यनाथ

2. एंटी रोमियो दल:

बीजेपी ने यूपी चुनाव से पहले 'लव जिहाद' और लड़कियों से बढ़ रही छेड़छाड़ के मसले को भी खूब जोर शोर से उठाया था. बीजेपी ने वादा किया था कि महिलाओं से हो रही छेड़छाड़ रोकने के लिए एंटी रोमियो दल बनाया जाएगा. खासकर पश्चिमी यूपी में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर बीजेपी ने अभियान चलाया हुआ था. योगी के लिए ये वादा निभाना भी काफी अहम् होगा और 2019 के लोकसभा चुनावों के लिए इसे काफी ज़रूरी माना जा रहा है.

ये भी पढ़ें: इन विवादित बयानों से पार्टी को कई बार मुश्किलों में डाल चुके हैं योगी आदित्यनाथ!

3. तीन तलाक:

बीजेपी ने अपने घोषणा पत्र में वादा किया था कि वो यूपी में तीन तलाक के मुद्दे पर मुस्लिम महिलाओं से चर्चा करेगी. इस चर्चा से जिस तरह के नतीजे सामने आएंगे उसी के मुताबिक कानून में बदलाव करने की दिशा में आगे बढ़ा जाएगा. बता दें कि कुछ ख़बरों में दावा भी किया जा रहा है कि तीन तलाक के मुद्दे पर करीब 10 लाख मुस्लिम महिलाओं ने पार्टी का साथ दिया है. योगी के सामने तीन तलाक पर भी कोई महत्वपूर्ण फैसला लेने की जिम्मेदारी होगी.

फिर पूर्वी उत्तर प्रदेश ने दिया सीएम, पूर्वांचल से योगी बनेंगे नौवें मुख्यमंत्री

और भी हैं ज़रूरी वादे

बीजेपी ने अपने घोषणापत्र में किसानों का कर्ज माफ करने, सभी कॉलेज-यूनिवर्सिटी में फ्री वाई-फाई देने, फ्री लैपटॉप के साथ 1 जीबी डाटा फ्री देने, 24 घंटे बिजली और 15 मिनट में पुलिस जैसे वादे किए हैं. इसके आलावा बीजेपी नेताओं ने रैलियों में भी इस बात का वादा किया था कि यूपी में चल रहे कत्लखानों को बंद किया जाएगा. इन सभी वादों को पूरा करना योगी के लिए बड़ी चुनौती साबित होने वाला है.

First published: March 18, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp