चूरू जिले में 4000 किसानों ने 23 स्थानों पर किया रास्ता जाम

ETV Rajasthan
Updated: July 17, 2017, 6:50 PM IST
चूरू जिले में 4000 किसानों ने 23 स्थानों पर किया रास्ता जाम
हाईवे पर लकड़ी रख जाम लगाते किसान.
ETV Rajasthan
Updated: July 17, 2017, 6:50 PM IST
राजस्थान के चूरू जिले के तारानगर में अखिल भारतीय किसान सभा के प्रदेशव्यापी आह्वान के तहत किसानों ने तहसीलभर के 14 गांवों में 23 स्थानों पर कर्फ्यू लगाकर रास्ता जाम किया. किसानों ने कर्जा माफ करने,  स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने, पशु बिक्री पर लगाई रेाक को वापिस लेने की मांग पर विरोध प्रदर्शन करते हुए सड़कों पर धरना दिया.

किसानों ने इस दौरान दूध, अनाज, सब्जी की सप्लाई पूर्णतया बंद रखी. उन्होंने सड़क पर लक्कड़, खंभे, कंटीली झाड़िया आदि डालकर रास्ता रोक दिया, जिससे रास्तों के दोनों तरफ वाहनों की लम्बी कतारें लग गईं.

चंगोई व बांय गांव में किसानों ने जुलुस निकालकर सीएम का पुतला फुंका. किसानों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए राज्य सरकार को किसान विरोधी बताया. दोपहर चूरू तिराहे पर प्रदर्शन कर रहे किसानों के साथ एसडीएम रामधन मीणा, तहसीलदार दिनेश शर्मा, एसएचओ रामचंद्र कस्वा ने वार्ता की.

इसमें प्रशासन ने किसानों को उनकी मांगों को सरकार तक शीघ्र पहुंचाने का आश्वासन दिया. इस पर किसानों की सहमति बनी और किसानों ने जाम किए गए रास्तों को फिर से खोल दिया. इससे आवागमन शुरू हुआ और सुबह से जाम में फंसे वाहन चालकों व यात्रियों को राहत मिली.

किसान सभा के प्रदेश कमेटी सदस्य एडवोकेट निर्मल प्रजापत ने बताया कि सरकार अगर मांगों पर शीघ्र ध्यान नहीं देगी तो आंदोलन को तेज किया जाएगा.

इसको लेकर प्रदेश कमेटी की जयपुर में बैठक कर जल्द ही आगामी आंदोलन की रूपरेखा तैयार की जाएगी. वहीं 22 जुलाई को किसान आवारा पशुओं को गांवों से लाकर एसडीएम कार्यालय में सौंपेंगे.
First published: July 17, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर