आधा सावन गुजरने के बाद भी धौलपुर में बारिश का नामोनिशान नहीं, किसान परेशान

ETV Rajasthan
Updated: July 17, 2017, 1:38 PM IST
आधा सावन गुजरने के बाद भी धौलपुर में बारिश का नामोनिशान नहीं, किसान परेशान
बुआई के लिए बारिश का इंतजार कर रहे है किसान.
ETV Rajasthan
Updated: July 17, 2017, 1:38 PM IST
राजस्थान के धौलपुर जिले में आषाढ़ मास के सूखा बीतने और सावन मास का आगाज होने के बाद भी क्षेत्र में मानसूनी बारिश नहीं होने के चलते जहां खेत में बीज डाले बैठा किसान परेशान है वहीं क्षेत्र के तालाब, ताल-तलैया, नदी-नाले भी सूखे पड़े हैं.

ऐसे में उमस भरी गर्मी में लोगों का जीना बेहाल हो रहा है और सभी को अब केवल झमाझम बारिश का इंतजार है. क्षेत्र में बारिश की आस में बैठे लोग परेशान दिख रहे हैं. वे बारिश के देवता इंद्र को मनाने के लिए तरह-तरह के जतन कर रहे हैं.

 

मौसम विज्ञान विभाग की ओर से इस वर्ष जारी किए गए मानसून के अच्छे पूर्वानुमान के बावजूद भी एक बार फिर से क्षेत्र के किसानों के चेहरे पर चिंता की लकीरें उभरने लगी हैं.

प्रदेश में इस बार अपने तय समय से करीब एक पखवाड़े देरी से पहुंचा मानसून शुरुआत में तो अपने रंग में दिखा लेकिन पिछले एक सप्ताह से रूठ गया है. एक हफ्ते के दौरान क्षेत्र के साथ जिले के किसी भी क्षेत्र में जोरदार बारिश नहीं हुई है.

किसानों को सताने लगी चिंता 

जिले में थोड़ी बहुत हुई बारिश के बाद कुछ क्षेत्रों में कुछ किसानों ने खेत में जो बीज डाले थे उनके अंकुरित होने के लिए भी बारिश की बूंदों का इंतजार है.

बारिश को लेकर बाड़ी उपखण्ड के आदमपुर क्षेत्र के किसान गोदान सिंह कुशवाह का कहना है कि आधा सावन निकलने को है और बारिश नहीं हो रही. ऐसे में उनको फसल की चिंता सताने लगी है और ताल-तलैया सब सूखे पड़े है.

यदि मानसून और रुठा रहा तो बुआई का रकबा तो घटेगा ही फसल के उत्पादन पर भी इसका असर पड़ेगा, खरीफ के सीजन के दौरान जिले में दलहन और तिलहन के रूप में मूंग, मोठ, ग्वार, बाजरा, मक्का, उड़द और तिल की खेती की जाती है. साथ में बाजरे की बंपर पैदावार होती है लेकिन इनके लिए मानसून की जोरदार बारिश का सभी को इंतजार है.
First published: July 17, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर