राजस्थान में 'अन्नपूर्णा रसोई' की शुरुआत, गरीबों को 5 रु. में नाश्ता और 8 रु. में मिलेगा खाना

Pradesh18
Updated: December 15, 2016, 7:54 PM IST
राजस्थान में 'अन्नपूर्णा रसोई' की शुरुआत, गरीबों को 5 रु. में नाश्ता और 8 रु. में मिलेगा खाना
अन्नपूर्णा रसोई योजना के उद्घाटन कार्यक्रम में मोबाइल वैन से खुद मुख्यमंत्री ने भोजन किया साथ ही वहां मौजूद अन्य को परोसा भी. (फोटो- डीआईपीआर)
Pradesh18
Updated: December 15, 2016, 7:54 PM IST


राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने गुरुवार को राजधानी जयपुर में 8 रुपए में खाना तथा 5 रुपए में नाश्ता देने की अन्नपूर्णा रसोई योजना का आगाज किया.

जयपुर में नगर निगम कार्यालय पर आयोजित उद्घाटन कार्यक्रम में मुख्यमंत्री राजे ने हरी झंडी दिखा कर रसाई योजना की 5 मोबाइल वैन रवाना की. मुख्यमंत्री ने खुद इस मोबाइल वैन से खाने की थाली ली और भोजन करते हुए इस स्वादिष्ट और पोष्टिक बताया. इसी के साथ ये योजना प्रदेश के 12 शहरों में एक साथ शुरू हो गई. पहले चरण में इस योजना के तहत 12 जिलों में सस्ता और पोष्टिक भोजन उपलब्ध कराया जाएगा. सीएम राजे ने के अनुसार आगे चलकर इसे पूरे प्रदेश में लागू किया जाएगा.

उल्लेखनीय है कि राजस्थान की भाजपा सरकार के तीन साल पूरे होने के राज्य स्तरीय कार्यक्रम में मंगलवार को ही बीकानेर में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने 'अन्नपूर्णा रसोई' योजना की घोषणा की थी. मुख्यमंत्री राजे ने बताया कि अन्नपूर्णा रसोई के जरिए गरीबों को सस्ता और अच्छा खाना मिलेगा.

12 जिलों में 80 स्थानों पर मिलेगा सस्ता भोजन:

मुख्यमंत्री राजे ने जयपुर में योजना के उद्घाटन समारोह में कहा कि यह योजना 12 जिलों में 80 जगहों पर शुरू कर रहे हैं. विश्वास है कि एक जो सपना देखा था वो आज सच हो रहा. इससे दूरदराज के लोगों को राहत मिलेगी. इस अवसर पर उन्होंने सीएम राजे ने रसाई व्यवस्था देखने वाली एजेंसी को भी धन्यवाद दिया.

जल्द ही अन्य जिलों में शुरू होगा काम:
राजे ने अन्नपूर्णा रसोई योजना की वैन से भोजन करते हुए कहा कि 'मेन्यू तो रसोई का बहुत अच्छा है'. साथ ही उन्होंने नसीहत दी कि रसाई पर सफाई में किसी तरह की कोई कमी नहीं आएं. उन्होंने कि कि योजना को जल्द सभी जिलों में शुरू किया जाएगा. इस अवसर पर राजे के साथ मंत्री श्रीचंद कृपलानी, राजपाल सिंह शेखावत, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी, विधायक मोहनलाल गुप्ता,
सुरेंद्र पारीक और प्रशासनिक अधिकारियों ने मोबाइल वैन से भोजन किया.

First published: December 15, 2016
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर