टीम इंडिया की जीत में चमके तिवारी, कोहली और रैना

आईएएनएस

Updated: August 1, 2012, 3:05 AM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

कोलंबो। पार्ट टाइम गेंदबाज मनोज तिवारी (61/4) के करियर की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी और उसके बाद विराट कोहली (नाबाद 128) और सुरेश रैना (नाबाद 58) के बीच पांचवें विकेट के बीच हुई 146 रनों की अटूट साझेदारी की बदौलत भारत ने श्रीलंका को चौथे एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मुकाबले में मंगलवार को छह विकेट से हरा दिया।

इस प्रकार मेहमान टीम ने सीरीज पर भी कब्जा कर लिया है। भारत सीरीज में 3-1 से आगे हो गया है। श्रीलंका की ओर से रखे गए 252 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत ने 46 गेंद शेष रहते चार विकेट के नुकसान पर 255 रन बनाए। कोहली ने 119 गेंदों पर 12 चौके और एक छक्का लगाया जबकि रैना ने 51 गेंदों पर चार चौके और एक छक्का लगाया।

टीम इंडिया की जीत में चमके तिवारी, कोहली और रैना
कोहली ने 119 गेंदों पर 12 चौके और एक छक्का लगाया जबकि रैना ने 51 गेंदों पर चार चौके और एक छक्का लगाया।

भारत की शुरुआत अच्छी नहीं रही और पारी के पहले ओवर की पांचवीं गेंद पर लसिथ मलिंगा ने सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर को बोल्ड कर भारत को तगड़ा झटका दिया। गंभीर खाता भी नहीं खोल सके। शुरुआत में गंभीर का विकेट खोने के बाद वीरेंद्र सहवाग ने विराट कोहली के साथ मिलकर पारी को संभालने की कोशिश की और दोनों बल्लेबाजों ने दूसरे विकेट के लिए 52 रनों की साझेदारी की।

सहवाग को 34 रन के निजी योग पर एंजेलो मैथ्यूज की गेंद पर स्थानापन्न खिलाड़ी सचित्रा सेनानायके ने कैच किया। पिछले तीन मुकाबलों की तरह रोहित शर्मा यहां भी कुछ खास नहीं कर सके और वह चार रन बनाकर पवेलियन लौट गए। उन्हें नुवान प्रदीप ने पगबाधा आउट किया। इसके बाद इस दौरे पर पहली बार टीम में शामिल किए गए तिवारी ने कोहली के साथ मिलकर पारी को आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी उठाई। दोनों बल्लेबाजों ने चौथे विकेट के लिए 49 रन जोड़े।

तिवारी को 21 रन के निजी योग पर जीवन मेंडिस ने पगबाधा आउट किया। श्रीलंका की ओर से मलिंगा, मैथ्यूज, प्रदीप और मेंडिस ने एक-एक विकेट झटका। इससे पहले, श्रीलंका ने निर्धारित 50 ओवरों में आठ विकेट पर 251 रन बनाए। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला करने उतरी श्रीलंका की शुरुआत अच्छी रही।

श्रीलंका की ओर से उपुल थरंगा और तिलकरत्ने दिलशान ने पारी की शुरुआत की। दोनों बल्लेबाजों ने अपनी टीम को शानदार शुरुआत दिलाते हुए पहले विकेट के लिए 91 रन जोड़े। श्रीलंका का पहला विकेट दिलशान के रूप में गिरा। दिलशान को 42 रन के निजी योग पर अशोक डिंडा की गेंद पर विकेट कीपर महेंद्र सिंह धोनी ने विकेट के पीछे लपका। दिलशान ने सात चौके लगाए।

दिलशान के आउट होने के बाद थरंगा भी 51 रन बनाकर रविचंद्रन अश्विन की गेंद पर धोनी के हाथों स्टम्प आउट हो गए। थरंगा ने 73 गेंदों पर चार चौके और एक छक्का लगाया। विकेट कीपर बल्लेबाज दिनेश चांदीमल ने 28 रनों का योगदान दिया। उन्हें तिवारी ने इरफान पठान के हाथों कैच कराया। चांदीमल ने लाहिरू थिरिमान्ने के साथ मिलकर तीसरे विकेट के लिए 50 रन जोड़े।

इसके बाद कप्तान माहेला जयवर्धने कुछ खास नहीं कर सके और वह तीन रन बनाकर सहवाग की गेंद पर धोनी के हाथों कैच आउट हो गए। श्रीलंका का पांचवां विकेट मैथ्यूज के रूप में गिरा, जिन्हें 14 रन के निजी योग पर तिवारी ने कोहली के हाथों कैच कराया। मेंडिस कुछ खास नहीं कर सके और वह 17 रन के निजी योग पर तिवारी की गेंद पर बोल्ड हो गए। इसके बाद तिवारी ने हरफनमौला थिसारा परेरा को दो रन के निजी योग पर रैना के हाथों कैच करा दिया।

थिरिमान्ने के रूप में श्रीलंका का आठवां विकेट गिरा। थिरिमान्ने को अश्विन ने 47 रन के निजी योग पर बोल्ड किया। रंगना हेराथ (17) और मलिंगा (15) नाबाद लौटे। भारत की ओर से तिवारी ने सर्वाधिक चार जबकि अश्विन ने दो विकेट झटके वहीं डिंडा और सहवाग के खाते में एक-एक विकेट गया।

First published: August 1, 2012
facebook Twitter google skype whatsapp