चेन्नई:न्यूजीलैंड से रोमांचक मुकाबले में 1 रन से हारा भारत

News18India

Updated: September 11, 2012, 6:07 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

चेन्नई। न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम ने एम. ए. चिदम्बरम स्टेडियम में मंगलवार को खेले गए रोमांच से भरपूर दूसरे और अंतिम ट्वेंटी-20 अंतर्राष्ट्रीय मुकाबले में भारत को एक रन से हरा दिया। इस तरह न्यूजीलैंड ने दो मैचों की यह श्रृंखला 1-0 से अपने नाम कर ली। विशाखापट्टनम में शनिवार को खेला जाने वाला पहला मुकाबला बारिश के कारण रद्द कर दिया गया था। कीवी टीम ने टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत के समक्ष जीत के लिए 168 रनों का लक्ष्य रखा। विस्फोटक बल्लेबाज ब्रेंडन मैक्लम ने मेहमान टीम के लिए सबसे अधिक 91 रन बनाए। मैक्लम की आकर्षक पारी की बदौलत न्यूजीलैंड ने निर्धारित 20 ओवरों में पांच विकेट के नुकसान पर 167 रन बनाए।

जवाब में भारतीय टीम खराब शुरुआत से उबरते हुए शानदार वापसी की और विराट कोहली (70) के जोरदार अर्धशतक की बदौलत जीत के करीब पहुंची लेकिन बेहद नाटकीय अंदाज में उसे अंतिम ओवर में मुंह की खानी पड़ी। भारतीय टीम 20 ओवरों में चार विकेट गंवाकर 166 रन ही बना सकी।

चेन्नई:न्यूजीलैंड से रोमांचक मुकाबले में 1 रन से हारा भारत
न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम ने एम. ए. चिदम्बरम स्टेडियम में मंगलवार को खेले गए रोमांच से भरपूर दूसरे और अंतिम ट्वेंटी-20 अंतर्राष्ट्रीय मुकाबले में भारत को एक रन से हरा दिया। न्यूजीलैंड ने दो मैचों की श्रृंखला 1-0 से अपने नाम कर ली।

इसमें कैंसर से उबरकर अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी करने वाले युवराज सिंह ने भी 34 रनों का योगदान दिया। युवराज कैंसर जैसी गम्भीर बीमारी को मात देकर लम्बे समय बाद अंतर्राष्ट्रीय मैच खेलने उतरे। जब वह गेंदबाजी करने जा रहे थे तब साइट स्क्रीन पर उनके स्वागत में लिखा गया 'वेलकम बैक युवी'। दर्शकों ने भी तालियों की गड़गड़ाहट से युवराज की हौसलाआफजाई की।

इसके अलावा सुरेश रैना (27) और कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने नाबाद 22 रन बनाए। कोहली ने अपनी 41 गेंदों की पारी में 10 चौके और एक छक्का लगाया तथा रैना के साथ मिलकर भारत को उस समय मुश्किल से उबारा जब उसने 26 रन के कुल योग पर गौतम गम्भीर (3) का विकेट गंवा दिया था। गम्भीर को काएल मिल्स ने अपनी ही गेंद पर कैच किया।

रैना और कोहली ने दूसरे विकेट के लिए 60 रन जोड़े। रैना का विकेट 86 रन के कुल योग पर गिरा। रैना ने गेंदों पर दो चौके और एक छक्का लगाया। इसके बाद कोहली और युवराज ने तीसरे विकेट के लिए तेजी से 34 रन जोड़े। इस बार युवराज का साथ कोहली ने छोड़ दिया। कोहली का विकेट 120 रन के कुल योग पर गिरा।

कोहली के आउट होने के बाद युवराज ने कप्तान धौनी के साथ मिलकर टीम को जीत के बिलकुल करीब पहुंचा दिया था लेकिन पारी के अंतिम ओवर मे जेम्स फ्रेंकलिन की एक गेंद को सीमा रेखा के बाहर भेजने के प्रयास में वह अपना अहम विकेट गंवा बैठे। उस समय भारत को जीत के लिए तीन गेदों पर छह रन बनाने थे।

युवराज ने अपनी 26 गेंदों की पारी में एक चौका और दो छक्के लगाए। युवराज का विकेट गिरने के बाद फ्रेंकलिन की अंतिम दो गेंदों पर रोहित शर्मा चार रन ही जुटा सके। इस तरह भारत को एक रन के अंतर से यह रोमांचक मैच हार गया। कप्तान धौनी 23 गेंदों पर दो चौके लगाकर नाबाद लौटे। इससे पहले, न्यूजीलैंड की शुरुआत बेहद खराब रही। उसने सिर्फ दो रन के कुल योग पर अपने दोनों सलामी बल्लेबाजों के विकेट गंवा दिए। रोब निकाल अपना खाता भी नहीं खोल सके। पहले ओवर की आखिरी गेंद पर जहीर खान ने उन्हें बोल्ड कर दिया। उन्होंने सिर्फ चार गेंदों का सामना किया।

अगले ही ओवर में दूसरे सलामी बल्लेबाज मार्टिन गुपटिल भी चलते बने। इरफान पठान ने उन्हें बोल्ड किया। गुपटिल ने एक रन बनाया। इसके बाद मैक्लम और केन विलियमसन ने न्यूजीलैंड की पारी को न सिर्फ संभाला बल्कि तेजी से रन भी बटोरे। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 90 रनों की साझेदारी कर टीम को मुश्किलों से उबारा। 92 रनों के कुल योग पर न्यूजीलैंड ने विलियमसन के रूप में अपना तीसरा विकेट गंवाया। उन्होंने 26 गेंदों का सामना करते हुए 28 रन बनाए और इस दौरान तीन चौके लगाए।

उधर, मैन ऑफ द मैच और मैन ऑफ द सीरीज चुने गए मैक्लम अपना अर्धशतक पूरा करने के बाद और आक्रामक अंदाज में खेलने लगे। वह शतक के करीब थे लेकिन पठान की एक धीमी गेंद को वह पढ़ने में नाकाम रहे और बोल्ड होकर पवेलियन लौटे। मैक्लम ने 55 गेंदों पर खेली गई 91 रनों की अपनी धुआंधार पारी के दौरान 11 चौके और तीन छक्के लगाए। उन्होंने विलियमसन के साथ जहां 90 रनों की साझेदारी की वहीं कप्तान रॉस टेलर के साथ चौथे विकेट के लिए 47 रनों की साझेदारी निभाई।

टेलर 25 रन बनाकर और जैकब ओरम 18 रन बनाकर नाबाद लौटे। टेलर ने 19 गेंदों का सामना करते हुए एक छक्का जड़ा वहीं ओरम ने सिर्फ नौ गेंदों का सामना किया और तीन चौके लगाए। भारत की ओर से पठान सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने न्यूजीलैंड के तीन बल्लेबाजों को पवेलियन की राह दिखाई। जहीर खान और लक्ष्मीपति बालाजी को एक-एक विकेट मिले।

(आईएएनएस की जानकारी के साथ)

First published: September 11, 2012
facebook Twitter google skype whatsapp