ट्वेंटी-20 वर्ल्ड कपः सुपर-8 में पहुंचने वाली टीमों के नाम तय

आईएएनएस

Updated: September 25, 2012, 6:07 AM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

कोलम्बो। ट्वेंटी-20 विश्व कप के ग्रुप स्तर पर मंगलवार को अंतिम मुकाबला खेला जाना है लेकिन आंकड़ों के लिहाज से सुपर-8 में पहुंचने वाली टीमों के नाम लगभग तय हो गए हैं। पाकिस्तान और बांग्लादेश की टीमें मंगलवार को अंतिम ग्रुप मैच में भिड़ेंगी लेकिन बांग्लादेश की आगे की राह असम्भव दिखाई देती है क्योंकि उसका नेट रन रेट पाकिस्तान की तुलना में काफी कम है।

न्यूजीलैंड की टीम दो मैच खेल चुकी है और सबसे बेहतर नेट रन रेट के आधार पर वह सुपर-8 में जगह बना चुकी है। पाकिस्तान का नेट रन रेट +0.650 है। उसने एक मैच खेला है और वह हार चुका है।

ट्वेंटी-20 वर्ल्ड कपः सुपर-8 में पहुंचने वाली टीमों के नाम तय
पाकिस्तान और बांग्लादेश की टीमें मंगलवार को अंतिम ग्रुप मैच में भिड़ेंगी लेकिन बांग्लादेश की आगे की राह असम्भव दिखाई देती है क्योंकि उसका नेट रन रेट पाकिस्तान की तुलना में काफी कम है।

दूसरी ओर, बांग्लादेश का नेट रन रेट -2.950 है जो पाकिस्तान से काफी कम है। सुपर-8 में पहुंचने के लिए बांग्लादेश को पाकिस्तान को काफी बड़े अंतर से हराना होगा और यह काम उसके लिए एक लिहाज से नामुमकिन है।

बारिश के कारण या फिर किसी और कारण से यह मैच रद्द होता है या फिर डकवर्थ लुईस नियम का भी पालन किया जाता है तो भी पाकिस्तान सुपर-8 में पहुंच जाएगा। ऐसे में पाकिस्तान का अगले दौर में पहुंचना तय है।

सुपर-8 को ग्रुप-1 और ग्रुप-2 में बांटा गया है। ग्रुप-1 में इंग्लैंड, वेस्टइंडीज, श्रीलंका और न्यूजीलैंड की टीमें हैं। ग्रुप-2 में भारत, पाकिस्तान (क्वालीफाई करना तय), ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका की टीमें हैं।

ग्रुप स्तर से ग्रुप-ए से इंग्लैंड और भारत, ग्रुप-बी से ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज, ग्रुप-सी से श्रीलंका और दक्षिण अफ्रीका और ग्रुप-डी से पाकिस्तान व न्यूजीलैंड को अगले दौर में पहुंचने का मौका मिला है।

इंग्लैंड को ग्रुप-ए में पहले स्थान पर होने के कारण ए-1 कोड दिया गया है जबकि भारत को ए-2 कोड मिला है। इसी तरह ऑस्ट्रेलिया को बी-1, वेस्टइंडीज को बी-2, श्रीलंका को सी-1, दक्षिण अफ्रीका को सी-2, न्यूजीलैंड को डी-2 और पाकिस्तान को डी-1 कोड मिला है।

सुपर-8 दौर में सभी टीमें अपनी ग्रुप में एक दूसरे के साथ एक-एक मैच खेलेंगी। इनमें से टॉप-2 टीमों को सेमीफाइनल में पहुंचने का मौका मिलगा। अगर दो टीमों के बराबर अंक हुए तो बेहतर रन रेट के आधार पर उसे आगे का रास्ता मिलेगा। इसमें ग्रुप स्तर के मैचों के परिणाम या फिर रन रेट को शामिल नहीं किया जाएगा।

First published: September 25, 2012
facebook Twitter google skype whatsapp