धोनी के लिए अग्निपरीक्षा से कम नहीं दूसरा टी-20

वार्ता
Updated: December 27, 2012, 7:25 AM IST
धोनी के लिए अग्निपरीक्षा से कम नहीं दूसरा टी-20
भारत चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के साथ खेली जा रही द्विपक्षीय सीरीज का पहला मैच पांच विकेट से गंवा चुका है। ऐ
वार्ता
Updated: December 27, 2012, 7:25 AM IST
अहमदाबाद। बैंगलोर में पाकिस्तान से पहला ट्वेंटी-20 हारने के बाद धोनी एंड कंपनी के लिए शुक्रवार को अहमदाबाद में दूसरा और अंतिम मुकाबला जीतकर दो मैचों की सीरीज को ड्रा कराना किसी अग्निपरीक्षा से कम नहीं होगा।

भारत चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के साथ खेली जा रही द्विपक्षीय सीरीज का पहला मैच पांच विकेट से गंवा चुका है। ऐसे में दो ट्वेंटी 20 मैचों की सीरीज में पाकिस्तान 1-0 की बढ़त हासिल कर चुका है और उसके हौंसले जीत के साथ आगाज करके बुलंद हैं।

भारत यदि शुक्रवार को अहमदाबाद में दूसरा ट्वेंटी-20 हार जाता है तो वह न सिर्फ यह सीरीज हार जाएगा बल्कि इससे उसकी हार की हैट्रिक भी हो जाएगी। दरअसल इससे पहले भारत इंग्लैंड से दो ट्वेंटी-20 मैचों की सीरीज का दूसरा मैच हार गया था। इसके बाद उसने पाकिस्तान से भी पहला ट्वेंटी-20 गंवा दिया और यदि वह अहमदाबाद में भी शिकस्त झेलता है तो यह लगातार उसकी तीसरी हार होगी।

बैंगलोर में पाकिस्तान ने जिस तरह से भारत को शिकस्त दी थी उससे साफ है कि विपक्षी टीम जहां पूरी तैयारी के साथ आई है तो वहीं टीम इंडिया की तैयारी काफी कमजोर है। पिछले मुकाबले में भारतीय टीम पाकिस्तानी टीम के सामने लगभग हर विभाग में संघर्ष करती हुई दिखाई दी।

भारतीय टीम की मध्यक्रम बल्लेबाजी पाकिस्तानी गेंदबाजों के सामने पूरी तरह धाराशाही हो गई। ऐसे में जरूरी है कि अहमदाबाद में इस तरह की कमजोरी सामने न आए। फटाफट क्रिकेट के इस प्रारूप में टीम इंडिया के बल्लेबाजों के लिए विपक्षी टीम के सामने बड़ा स्कोर बनाने की जरूरत है। खुद कप्तान धोनी ने भी बैंगलोर मैच के बाद कहा था कि यदि उनकी टीम ने 10 से 15 रन और जोड़े होते तो शायद स्थिति कुछ और होती।
First published: December 27, 2012
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर