अर्जुन के रूप में क्या देश को मिलेगा एक और तेंदुलकर?

News18India

Updated: January 10, 2013, 2:12 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

नई दिल्ली। कहते हैं खिलाड़ी आते-जाते हैं खेल चलता रहता है। मैदान चाहे कोई भी हो, लेकिन जिसके खून में ही खेल हो उसका मैदान में आना थोड़ा अलग होता है। खासकर तब जब पिता सचिन की तरह हों, जिसे दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में शुमार किया जाता है। ऐसे में उम्मीदें खुद ब खुद बढ़ जाती हैं। कई बार मैदान पर पिता के साथ नजर आने वाले अर्जुन तेंदुलकर उन्हीं के नक्शे कदम पर चल पड़े हैं। प्रोफेशनल क्रिकेट में उन्होंने अपना पहला कदम रख दिया है।

सचिन के बेटे अर्जुन का मुंबई अंडर-14 टीम के लिए चुनाव हुआ है। उन्हें वेस्ट जोन की टीम में शामिल किए गया है। हाल ही में हुए अंडर-14 के ट्रायल में अर्जुन ने बेहतर प्रदर्शन किया था। बाएं हाथ के बल्लेबाज अर्जुन ने सेलेक्शन ट्रायल के दौरान अपनी टीम की ओर से ओपनिंग की थी। अब वो अहमदाबाद में 20 जनवरी से शुरू होनेवाले अंडर-14 टूर्नामेंट में खेलेंगे।

अर्जुन के रूप में क्या देश को मिलेगा एक और तेंदुलकर?
कहते हैं खिलाड़ी आते-जाते हैं खेल चलता रहता है। मैदान चाहे कोई भी हो, लेकिन जिसके खून में ही खेल हो उसका मैदान में आना थोड़ा अलग होता है।

अहम ये है कि अर्जुन मैदान पर ऐसे वक्त में उतर रहे हैं, जब उनके पिता वनडे क्रिकेट की किताब में कई नए अध्याय जोड़कर विदाई ले चुके हैं। अगर पिता और बेटे की उम्र का फासला 28 साल का नहीं होता तो शायद हम दोनों को एक साथ मैदान पर देख रहे होते। 12 साल के अर्जुन को अभी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखने में देर लगेगी। लेकिन अगर पिता के नक्शेकदम पर चलते हुए वो भी उनकी तरह कम उम्र में शुरुआत करते हैं तो बाप-बेटे को एकसाथ मैदान पर देखने का सपना अभी भी सच हो सकता है। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में ऐसा नहीं हुआ तो आईपीएल में ही सही।

First published: January 10, 2013
facebook Twitter google skype whatsapp