भुवनेश्वर की सधी गेंदबाजी ने टीम इंडिया को बंधाई आस

News18India

Updated: January 16, 2013, 1:40 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

नई दिल्ली। जहीर खान के बाद भारतीय क्रिकेट टीम का अगला रफ्तार का चेहरा कौन होगा इस सवाल का जवाब शायद हम सबके सामने भुवनेश्वर कुमार के रूप में आने लगा है। पहले पाकिस्तान फिर इंग्लैंड के खिलाफ सधी हुई गेंदबाजी करके इस गेंदबाज ने सबको प्रभावित किया है। कोच्चि वनडे में भुवनेश्वर कुमार की बेहतरीन गेंदबाजी के बाद उनके शहर मेरठ में भी जमकर जश्न मना।

कोच्चि और मेरठ में फासला 2000 किलोमीटर से ज्यादा का है लेकिन जैसे-जैसे कोच्चि में एलिस्टर कुक, केविन पीटरसन और ऑयन मॉगर्न के विकेट गिरे। मेरठ में जश्न जमकर मना और मनता भी क्यों नहीं शहर के लाडले ने प्रदर्शन ही ऐसा शानदार किया था। कोच्चि वनडे में भुवनेश्वर कुमार ने जहां 10 ओवर में 29 रन देकर 3 विकेट झटके। इससे पहले पाकिस्तान के खिलाफ भी भुवनेश्वर ने 3 वनडे मैच में 23.8 की शानदार औसत से 5 विकेट झटके थे।

भुवनेश्वर की सधी गेंदबाजी ने टीम इंडिया को बंधाई आस
जहीर खान के बाद भारतीय क्रिकेट टीम का अगला रफ्तार का चेहरा कौन होगा इस सवाल का जवाब शायद हम सबके सामने भुवनेश्वर कुमार के रूप में आने लगा है।

पाकिस्तान के खिलाफ पहले टी-20 मैच से ही भुवनेश्वर कुमार अपनी स्विंग के लिए काफी सुर्खियां बटोर रहे हैं। यूनिस खान से लेकर केविन पीटरसन तक भुवनेश्वर की इन स्विंग गेंदबाजी के खतरे को पूरी तरह जान चुके हैं। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में शानदार आगाज के चलते भुवनेश्वर कुमार सुर्खियां तो अब बटोर रहे हैं लेकिन प्रथम श्रेणी क्रिकेट में उत्तर प्रदेश का ये गेंदबाज अपनी प्रतिभा का लोहा पहले ही मनवा चुका था।

भुवनेश्वर कुमार ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट के 46 मुकाबलों में 26.50 की औसत से 149 विकेट लिए हैं। इन 149 विकेट में से एक सचिन तेंदुलकर का भी है। भुवनेश्वर कुमार ने आगाज बहुत शानदार किया है। नई गेंद से ये गेंदबाज सबको प्रभावित कर रहा है अब उम्मीद है कि आने वाले दिनों में वो ना सिर्फ नई बल्कि पुरानी गेंद के साथ भी बल्लेबाजों के लिए खतरा बनें क्योंकि अगर वो ऐसा कर पाएं तो सही मायने में भुवनेश्वर भारतीय गेंदबाजी के भविष्य के तौर पर उबर सकते हैं।

First published: January 16, 2013
facebook Twitter google skype whatsapp