कभी नहीं सोचा था कि एक दिन देश के लिए खेलूंगा: धोनी

वार्ता

Updated: February 26, 2013, 11:15 AM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

चेन्नई। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चेन्नई टेस्ट में आठ विकेट से मिली शानदार जीत के सूत्रधार कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी का कहना है कि उन्होंने टेस्ट में दोहरे शतक के बारे में कभी सोचा नहीं था।

धोनी ने मैच के बाद कहा कि मैंने टेस्ट में दोहरे शतक के बारे में कभी नहीं सोचा था। मैंने तो देश के लिए खेलने के बारे में भी कभी नहीं सोचा था। धोनी ने इस मैच में अपने करियर की र्सवश्रेष्ठ पारी खेलते हुए 224 रन बनाकर भारत की जीत की इबारत लिखी थी। उन्हें इस शानदार पारी के लिए मैन आफ द मैच घोषित किया गया।

कभी नहीं सोचा था कि एक दिन देश के लिए खेलूंगा: धोनी
ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चेन्नई टेस्ट में मिली शानदार जीत के सूत्रधार कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी का कहना है कि उन्होंने टेस्ट में दोहरे शतक के बारे में कभी सोचा नहीं था।

अपनी पारी के बारे में धोनी ने कहा कि मेरे लिए बडे शॉट खेलने जरूरी थे। अगर आपके आसपास कई अतिरिक्त फील्डर मौजूद हैं तो एक खराब शॉट पर आपका काम तमाम हो सकता है। मैंने फील्ड को फैलाने के मकसद से बडे शॉट खेले थे। सचिन और पुजारा ने कुछ समय मैदान में गुजारा और फिर सचिन और विराट ने अहम साझेदारी की।

भारतीय कप्तान ने कहा कि हमारे शीर्ष बल्लेबाजो ने जो साझेदारियां की उसने ऑस्ट्रेलिया के गेदबाजों को थका दिया था। इससे मेरा काम आसान हो गया था। अश्विन ने आस्ट्रेलिया की पहली पारी में शानदार प्रदर्शन किया और दूसरी पारी में हरभजन ने भी उनका पूरा साथ दिया।

धोनी ने कहा कि हमारे लिए अब फोकस बनाए रखना जरूरी है। इस जीत के साथ भारत ने चार मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली है। सीरीज का दूसरा मैच दो मार्च से हैदराबाद में शुरू होगा।

First published: February 26, 2013
facebook Twitter google skype whatsapp