डु प्लेसी को उम्मीद, घरेलू प्रतिभा को नया मंच देगी ग्लोबल टी-20 लीग

आईएएनएस
Updated: June 20, 2017, 4:57 PM IST
डु प्लेसी को उम्मीद, घरेलू प्रतिभा को नया मंच देगी ग्लोबल टी-20 लीग
File Photo
आईएएनएस
Updated: June 20, 2017, 4:57 PM IST
दक्षिण अफ्रीका के टेस्ट और टी-20 टीम के कप्तान फाफ डु प्लेसी का मानना है कि देश का पहला टी-20 टूर्नामेंट ग्लोबल टी-20 लीग घरेलू खिलाड़ियों को दूसरे देशों में जाने से रोकेगी और नई प्रतिभा को खोज कर लाएगी. डु प्लेसी ने यह बात यहां लीग के लॉन्च होने के मौके पर कही.

वेबसाइट क्रिकइंफो ने डु प्लेसी के हवाले से लिखा है, "मैंने यह बात तब कही थी जब कोल्पैक की शुरुआत हुई थी. वह शायद सबसे अच्छा सयम था जब देश को अपने खिलाड़ियों को अपने देश में बनाए रखने के प्रयास करने चाहिए थे."

कोल्पैक एक तरह का करार होता है. जब इसके तहत खिलाड़ी दक्षिण अफ्रीका को छोड़ कर दूसरे देश खासकर इंग्लैंड के घरेलू क्रिकेट में हिस्सा लेता है. खिलाड़ी करार खत्म होने के बाद अपने देश में वापसी कर सकता है. खुद डु प्लेसी दो साल तक इंग्लैंड की काउंटी लंकाशायर के लिए खेले थे और फिर 2010-11 में स्वेदश वापसी की थी तब से दक्षिण अफ्रीका टीम का हिस्सा हैं.

डु प्लेसी के मुताबिक, "खिलाड़ियों को अब दूसरे देशों की तरफ देखने की ज़रूरत नहीं है. मौका और पैसा दोनों के लिहाज़ से. उन्हें अब अपने देश से बाहर नहीं जाना पड़ेगा. इस लीग के ज्यादातर खिलाड़ी अपने देश में ही रहेंगे."

उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि घरेलू क्रिकेट को कमतर आंका गया. आपके अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ियों को पूरे विश्व में काफी मौके मिलते हैं, लेकिन यह घरेलू खिलाड़ियों के लिए बड़ा मौका साबित होगा. इससे उन्हें विश्व क्रिकेट में अपना नाम कमाने का मौका मिलेगा और आईपीएल जैसे दूसरे बड़े टूर्नामेंट में वह खेल सकेंगे."
First published: June 20, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर