घाना और ऑस्ट्रेलिया मुकाबला बराबरी पर खत्म

आईएएनएस
Updated: February 26, 2015, 5:55 PM IST
घाना और ऑस्ट्रेलिया मुकाबला बराबरी पर खत्म
घाना और आस्ट्रेलिया के बीच खेला गया रोमांचक मुकाबला 1-1 की बराबरी पर खत्म हुआ।
आईएएनएस
Updated: February 26, 2015, 5:55 PM IST
रस्टेनबर्ग। फीफा विश्व कप में ग्रुप डी के चौथे मैच में शनिवार को स्थानीय रॉयल बाफोकेंग स्टेडियम में घाना और आस्ट्रेलिया के बीच खेला गया रोमांचक मुकाबला 1-1 की बराबरी पर खत्म हुआ।

आस्ट्रेलिया की ओर से 11वें मिनट में किए गए पहले गोल के 14 मिनट के अंदर ही घाना ने भी गोल दागकर मुकाबला 1-1 की बराबरी पर ला दिया। इसके बाद दोनों टीमों की ओर से गोल करने के लिए कई जोरदार हमले हुए लेकिन किसी भी टीम को इसमें सफलता नहीं मिली।

मैच बराबरी पर खत्म होने के बावजूद घाना की टीम अपने ग्रुप में अंक तालिका पर शीर्ष पर है। ग्रुप डी के अब तक हुए मैचों के परिणाम के मुताबिक सभी टीमों के अगले दौर में पहुंचने की संभावना अभी भी बनी हुई है। हालांकि आस्ट्रेलिया के लिए आगे का रास्ता सबसे मुश्किल है क्योंकि ग्रुप की शेष तीन टीमों ने एक-एक मैच जीते हैं जबकि आस्ट्रेलिया अभी तक कोई भी मैच नहीं जीत पाई है।

इस ग्रुप में घाना और आस्ट्रेलिया के अलावा सर्बिया और जर्मनी भी हैं। सर्बिया ने शुक्रवार को खेले गए मुकाबले में जर्मनी को 1-0 से पराजित कर सनसनी फैला दी थी। जर्मनी ने अपने पहले मैच में आस्ट्रेलिया को 4-0 से पराजित किया था। घाना इस प्रतियोगिता में अपना पहला मैच जीत चुकी है जबकि आस्ट्रेलिया को पहले मैच में हार का सामना करना पड़ा था।

प्रतियोगिता में अपना पहला मैच हार चुकी आस्ट्रेलिया और घाना ने शुरू से ही एक दूसरे पर आक्रमण करना आरंभ कर दिया था। खेल के महज 11वें मिनट में आस्ट्रेलिया को पहली सफलता मिली जब होलमैन ने गोल कर अपनी टीम को 1-0 की बढ़त दिला दी।

10वें मिनट में घाना के अन्नान ने फाउल किया। इस फाउल पर मिले फ्री किक पर ब्रेसियानों ने शॉट लगाया जिसे बचाने में घाना के गोलकीपर किंगसन सफल तो रहे लेकिन गेंद उनके हाथ से छूट गई। इसका फायदा उठाते हुए होलमैन ने गेंद को गोलपोस्ट के अंदर पहुंचा दिया।

इसके बाद खेल के 24वें मिनट में घाना के जोनाथन ने बॉक्स के बेहद करीब से गोलपोस्ट को निशाना बनाकर गेंद मारा लेकिन आस्ट्रेलियाई खिलाड़ी कीवेल ने उसे हाथ लगाकर बचाने का प्रयास किया। मैच रैफरी ने तुरंत सीटी बजाते हुए कीवेल को रेड कार्ड दिखाया और घाना को पेनाल्टी दे दी।

घाना के बेहतरीन खिलाड़ी ए. ज्ञान ने इस मौके का भरपूर लाभ उठाते हुए 25वें मिनट में गोल कर दिया और मैच को 1-1 की बराबरी पर पहुंचा दिया। इसके बाद घाना की ओर से आक्रमण और तेज हो गया। ज्ञान ने अंत तक आस्ट्रेलिया पर कई हमले किए लेकिन उनके प्रयास गोल में तब्दील नहीं हो सके। शानदार प्रदर्शन के लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया।

कीवेल को रेड कार्ड दिखाने के बाद आस्ट्रेलियाई टीम को 10 खिलाड़ियों के साथ मैदान में खेलना पड़ा। हालांकि कीवेल की अनुपस्थिति के बावजूद आस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन गोल करने में उन्हें कोई सफलता नहीं मिली।

घाना ने अपने पहले मुकाबले में सर्बिया को 1-0 से पराजित किया था वहीं आस्ट्रेलिया को अपने पहले मैच में जर्मनी के हाथों 0-4 की शर्मनाक शिकस्त झेलनी पड़ी थी। घाना की ओर से इस मैच में सबकी निगाहें ए. ज्ञान पर टिकी थी क्योंकि सर्बिया के खिलाफ पहले मैच में अपनी टीम के लिए उन्होंने ही गोल किया था। यही नहीं 2010 में घाना ने अंतर्राष्ट्रीय मैचों में कुल 10 गोल किए हैं और इनमें से पांच गोल ज्ञान के नाम रहे हैं। उन्होंने इस मैच में उम्मीदों के मुताबिक शानदार प्रदर्शन किया।

फीफा रैंकिंग में घाना की टीम को 32वीं वरीयता प्राप्त है जबकि आस्ट्रेलिया की टीम वरीयता क्रम में 20वें स्थान पर है।
First published: June 19, 2010
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर