आईएसएल: ग्रांडे के गोल से कोलकाता ने केरल को 1-0 से हराया

आईएएनएस

Updated: October 5, 2016, 11:24 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

कोच्चि। पूर्व चैम्पियन एटलेटिको डी कोलकाता ने बुधवार को जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में खेले गए हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के तीसरे संस्करण के अपने दूसरे मैच में केरला ब्लास्टर्स को 1-0 से हरा दिया। मैच का एकमात्र गोल एटलेटिको के जेवियर लारा ग्रांडे ने 53वें मिनट में किया।

दोनों टीमों का आईएसएल-3 में यह दूसरा मैच था। कोलकाता ने अपने पहले मैच में मौजूदा चैम्पियन चेन्नइयन एफसी को 2-2 से बराबरी पर रोका था, जबकि केरला को उद्घाटन मैच में नार्थईस्ट युनाइटेड एफसी के हाथों 0-1 से हार मिली थी। इस मैच से मिले तीन अंकों ने कोलकाता को तालिका में चार अंकों के साथ दूसरे स्थान पर पहुंचा दिया, जबकि छह अंकों के साथ नार्थईस्ट पहले स्थान पर है।

आईएसएल: ग्रांडे के गोल से कोलकाता ने केरल को 1-0 से हराया
photo credit twitter @IndSuperLeague

ग्रांडे ने 54,900 स्थानीय दर्शकों की मौजूदगी में केरला के खिलाफ यह गोल साथी खिलाड़ी जुआन बेलेंकोसो के पास पर किया। बेलेंकोसो के पास पर ग्रांडे ने गोलपोस्ट के बिल्कुल सामने से जोरदार किक लगाई, जो गोलकीपर ग्राहम स्टाक तक पहुंचने से पहले संदेश झिंगन के पैर से हल्के से टकराई और अपनी दिशा बदल ली। इससे स्टाक का अंदाजा गलत हो गया और गेंद उनके बगल से निकलती हुई गोलपोस्ट में घुस गई।

मैच का पहला हाफ एक लिहाज से काफी शांत रहा। कोई भी टीम गोल करने में सफल नहीं हो सकी। इस दौरान मेहमान टीम ने आक्रामक खेल दिखाने की कोशिश की, इसके बावजूद उसके हाथ कुछ नहीं लगा। मैच शुरू होने के साथ ही मेहमानों को उस समय करारा झटका लगा जब उसके स्टार स्ट्राइकर हेल्डर पोस्टीगा को चोट लगी और उन्हें 15वें मिनट में मैदान से बाहर जाना पड़ा।

मेहमान टीम की तरह मेजबान टीम भी पहले हाफ में जरूरी लय नहीं हासिल कर सकी। दोनों टीमों ने हालांकि कई मौके बनाए, लेकिन कोई भी उसे परिणाम की शक्ल नहीं दे सका। दूसरे हाफ का खेल बड़े नाटकीय अंदाज में हुआ। केरल के एंटोनियो जर्मन 47वें मिनट में बड़ी तेजी से गेंद लेकर कोलकाता के क्षेत्र में पहुंचे लेकिन खुद पर नियंत्रण नहीं रख सके और वहीं गिर गए।

इसके दो मिनट बाद ही समीध दोउते ने कोलकाता के लिए एक बेहतरीन मौका बनाया। उनका एक क्रास सीधे केरल के बाक्स में गया, जिस पर सिर्फ बेहतरीन हेडर की जरूरत थी। जुआन बेलेंकोसो ने इसका प्रयास भी किया लेकिन गेंद को सही दिशा नहीं दे सके।

कोलकाता ने अपना आक्रमण बनाए रखा, जिसकी बदौलत वे 53वें मिनट में पहला गोल करने में सफल हुए। इस बीच केरल ने अपने स्टार स्ट्राइकर माइकल चोपड़ा को मैदान में उतारा। केरला के खेल में इससे कुछ निखार आया लेकिन कोच ने रणनीति में बड़ा बदलाव करते हुए गोलकीपर स्टाक को बदलकर संदीप नंदी को गोलपोस्ट की जिम्मेदारी सौंपी। इसके पीछे स्टाक की चोट एक वजह हो सकती है।

76वें मिनट में केरल के मोहम्मद रफीक को मैच का पहला पीला कार्ड दिखाया गया। केरल अपनी रणनीति में बदलाव करते हुए लगातार नए खिलाड़ियों को मैदान पर ला रहा था, लेकिन इसके बावजूद उसे सफलता मिलती नहीं दिख रही थी। 79वें मिनट में इसी तरह का एक अहम फैसला लिया गया और दोउते को बाहर कर लालरिंदिका राल्ते को अंदर लाया गया। लेकिन राल्ते आते ही फाउल कर बैठे और इसके लिए उन्हें पीला कार्ड भी दिखाया गया।

90वें मिनट में महताब हुसैन ने कॉर्नर पर कोलकाता के बाक्स में गेंद पहुंचा दी और इस पर सेड्रिक हेंगबार्ट ने अच्छा प्रयास भी किया लेकिन गेंद देबजीत मजूमदार के हाथों से थोड़ी दूर से बाहर चली गई। यहां केरला ने बराबरी करने का एक सुनहरा मौका गंवा दिया। एक गोल की बढ़त के साथ कोलकाता ने अपने खेल का स्तर बनाए रखा और अपनी रक्षापंक्ति को मजबूत बनाए रखते हुए कुछ हमले भी किए और अंतत: यह मैच अपने नाम करने में सफल रहे।

First published: October 5, 2016
facebook Twitter google skype whatsapp