आजादी के पहले बना क्रिकेट का रिकॉर्ड, अब जाकर टूटा

Pradesh18

First published: January 14, 2017, 3:36 PM IST | Updated: January 14, 2017, 3:42 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp
आजादी के पहले बना क्रिकेट का रिकॉर्ड, अब जाकर टूटा
File Photo: PTI

रणजी ट्रॉफी के फाइनल में मुंबई को शिकस्त देकर गुजरात ने इतिहास रच दिया है. 312 रनों के मजबूत लक्ष्य को गुजरात ने केवल पांच विकेट खोकर पूरा कर लिया.

रणजी फाइनल में सबसे बड़ा लक्ष्य सफलतापूर्वक हासिल करने का रिकॉर्ड हैदराबाद के नाम पर था. हैदराबाद ने 1937-38 में नवानगर के खिलाफ 310 रन का लक्ष्य हासिल किया था. गुजरात का यह पहला रणजी खिताब है.

गुजरात की इस जीत में कप्तान पार्थिव पटेल का अहम रोल रहा. पार्थिव ने 196 गेंदों पर 143 रनों की शानदार पारी खेली. इस पारी में पार्थिव ने 24 चौके लगाए.

मणप्रीत जुनेजा ने भी 54 रनों की पारी खेली और अपने कप्तान का बढ़िया साथ दिया. सुमित गोहल ने 21, प्रियंक पंचल ने 34 और भार्गव मरेई ने 2 रन बनाए.

इससे पहले अभिषेक नायर (91), श्रेयस अय्यर (82) और कप्तान आदित्य तारे (69) की अहम पारियों की बदौलत मौजूदा विजेता मुंबई ने रणजी ट्रॉफी के फाइनल के चौथे दिन दूसरी पारी में 411 रन बनाते हुए गुजरात के सामने 312 रनों का मजबूत लक्ष्य रखा.

इंदौर के होल्कर स्टेडियम में खेले गए इस मैच में मुंबई की पहली पारी 228 रनों पर ही सिमट गई थी. जवाब में गुजरात ने अपनी पहली पारी में 328 रन बनाते हुए 100 रनों की बढ़त ले ली थी.

अपने तीसरे दिन के स्कोर तीन विकेट पर 208 रनों से आगे खेलने उतरी मुंबई ने अपने खाते में 30 रन जोड़े थे कि सूर्यकुमार यादव (49) को रुश कलरिया ने अर्धशतक पूरा नहीं करने दिया और विकेट के पीछे पार्थिव पटेल के हाथों कैच करा दिन का पहला झटका दिया.

सिद्देश लाड (15) को 270 के कुल स्कोर पर आरपी सिंह ने पवेलियन भेजा. लाड के बाद नायर ने विकेट पर कदम रखा. दूसरे छोर से नियमित अंतराल पर विकेट गिर रहे थे, लेकिन नायर एक छोर से रन बनाते जा रहे थे.

तारे 297 के कुल स्कोर पर हार्दिक पटेल की गेंद पर पगबाधा करार दिए गए. अंत में बलविंदर संधु (20) और विशाल दाभोलकर (12) ने नायर का साथ दिया और उनके साथ विकेट पर खड़े रहे. दूसरे छोर पर नायर तेजी से रन बटोरते हुए शतक की ओर बढ़ रहे थे.

लेकिन आर.पी.सिंह ने नायर को शतक पूरा नहीं करने दिया और उनको 411 के कुल स्कोर पर पगबाधा करा मुंबई की दूसरी पारी का अंत किया. नायर ने अपनी पारी में 146 गेंदें खेलीं और पांच चौके तथा इतने ही छक्के लगाए.

गुजरात की तरफ से चिंतन गाजा ने सर्वाधिक छह विकेट लिए. आरपी सिंह ने दो विकेट लिए. कलारिया और पटेल को एक-एक विकेट मिला.

facebook Twitter google skype whatsapp