भारतीय हॉकी टीम ने दिया दिवाली का तोहफा, पाक को हरा बनी एशियन चैपियंस ट्रॉफी की विजेता

News18India.com

Updated: October 30, 2016, 8:12 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

कुआंटान। भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने एशियन चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले में पाकिस्तान को हराकर देशवासियों को दिवाली का सबसे बड़ा तोहफा दे दिया। भारतीय हॉकी टीम ने पाकिस्तान को 3-2 से हराकर एशियाई चैंपियनशिप ट्रॉफी का गोल्ड मेडल जीत लिया।

भारत के लिए रुपिंदर पाल सिंह, अफ्फान यूसुफ और निकिन थिमैया ने गोल दागे, जबकि पाकिस्तान की ओर से मोहम्मद अलीम बिलाल और अली शान ने गोल दागे। रुपिंदर ने मैच के 18वें मिनट में पेनाल्टी कॉर्नर पर गोल कर भारत को बढ़त दिलाई। पहला क्वार्टर भारत के नाम रहा।

भारतीय हॉकी टीम ने दिया दिवाली का तोहफा, पाक को हरा बनी एशियन चैपियंस ट्रॉफी की विजेता
File Photo: Getty Images

दूसरे क्वार्टर में अफ्फान यूसुफ ने 23वें मिनट में फील्ड गोल के जरिए भारत की बढ़त को 2-0 कर दिया। पाकिस्तानी गोलपोस्ट के बिल्कुल मुंहाने पर खड़े अफ्फान ने यह गोल रमनदीप से मिले बेहतरीन क्रॉस पर किया। ऐसा लग रहा था कि भारत इसी स्कोर के साथ पहले हाफ की समाप्त करेगा, लेकिन पाकिस्तानी टीम पहला हाफ समाप्त होने से ठीक पहले पेनाल्टी कॉर्नर पाने में सफल रही। अलीम बिलाल ने पेनाल्टी को गोल में तब्दील कर पाकिस्तान का स्कोर 1-2 कर लिया।

पहले हाफ में बढ़त ले चुकी भारतीय टीम दूसरे हाफ में थोड़ी ढीली नजर आई, जिसका फायदा उठाने में पाकिस्तान सफल रहा। अली शान ने मैच के 38वें मिनट में बेहतरीन फील्ड गोल कर पाकिस्तान को 2-2 से बराबरी पर ला दिया।

स्कोर बराबर होने के बाद मैच रोमांचक मोड़ पर आ गया और दोनों टीमों ने चौथे निर्णायक क्वार्टर में बढ़त लेने के लिए जोर लगाना शुरू कर दिया। दोनों तरफ से कई हमले हुए, लेकिन सफलता किसी को नहीं मिल रही थी।

मैच के 51वें मिनट में पाकिस्तानी गोलपोस्ट के बाईं ओर मौजूद निकिन थिमैया को सरदार से बेहतरीन पास मिला, जिसे उन्होंने बड़ी सूझबूझ के साथ पाकिस्तानी गोलकीपर के जरा सा ऊपर से गोलपोस्ट की राह दिखा दी।

First published: October 30, 2016
facebook Twitter google skype whatsapp