हमें फिक्सिंग की आशंका हो गई थीः अश्विनी

वार्ता

Updated: August 9, 2012, 12:22 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

नई दिल्ली। लंदन ओलंपिक में बैडमिंटन प्रतियोगिता के महिला युगल के नॉकआउट दौर की दहलीज तक पहुंचने के बावजूद बाहर हो गई भारतीय खिलाड़ी अश्विनी पोनप्पा ने आज कहा कि उन्हें और उनकी जोड़ीदार ज्वाला गुट्टा को अपने आखिरी मैच में उतरने से पहले ही आशंका हो गयी थी कि कुछ गलत होने जा रहा है।

अश्विनी ने चीयर फार चैंपियंस सर्वे रिपोर्ट जारी किए जाने के अवसर पर संवाददाताओं से कहा कि बेशक हम पहला मैच नहीं जीत पाए थे लेकिन उसके बाद हमने अच्छी वापसी करते हुए अगले दोनों मैच जीते थे। सिंगापुर के खिलाफ अंतिम मैच में उतरने से पहले हमें यह लगने लगा था कि कुछ गड़बड़ हो चुका है। हमारे ग्रुप में जापान जानबूझकर चीनी ताइपे से हार चुका था जिससे हम पर भी दबाव आ गया था।

हमें फिक्सिंग की आशंका हो गई थीः अश्विनी
अश्विनी पोनप्पा ने कहा कि उन्हें और ज्वाला गुट्टा को अपने आखिरी मैच में उतरने से पहले ही आशंका हो गयी थी कि कुछ गलत होने जा रहा है।

उन्होंने ओलंपिक के ग्रुप कार्यक्रम की आलोचना करते हुए कहा कि हमें तो आखिर तक पता नहीं चल पा रहा था कि क्या हुआ। यदि जापान जीत जाता तो हम नाकआउट राउंड में पहुंच जाते। लेकिन जापान ने अगले राउंड में चीनी जोड़ी से बचने के लिए अपना मैच गंवाया ताकि वह नाकआउट राउंड में डेनमार्क से खेल सके।

First published: August 9, 2012
facebook Twitter google skype whatsapp