छेत्री ने दाग़ा 53वां गोल, मेस्सी-रोनाल्डो के साथ टॉप-5 स्कोरर में बनाई जगह

News18Hindi
Updated: March 29, 2017, 6:53 PM IST
छेत्री ने दाग़ा 53वां गोल, मेस्सी-रोनाल्डो के साथ टॉप-5 स्कोरर में बनाई जगह
Image Source: Getty
News18Hindi
Updated: March 29, 2017, 6:53 PM IST
भारतीय फुटबॉल टीम के कैप्टन सुनील छेत्री अंतरराष्ट्रीय टॉप पांच गोल स्कोर करने वाले खिलाड़ियों में शामिल हो गए हैं. छेत्री ने मंगलवार को एशिया कप क्वालीफायर में म्यांमा के खिलाफ अपना 53वां गोल दाग़ा.

रोनाल्डो, मेस्सी के साथ हुए शामिल
छेत्री अब दिग्गज फुटबॉल खिलाड़ियों की लिस्ट में शुमार हो गए हैं. क्रिस्टियानो रोनाल्डो, जो 71 गोल के साथ लिस्ट में टॉप पर हैं, उसके बाद 58 गोल के साथ दूसरे नम्बर पर लियोनल मेस्सी हैं. चौथे स्थान के लिए छेत्री और इंग्लैंड के कप्तान वेन रूनी में टाई है.

छेत्री के गोल से भारत ने म्यांमा को हराया

स्टार स्ट्राइकर सुनील छेत्री के 90वें मिनट में किये गए गोल की मदद से भारत ने आज यहां एएफसी एशियाई कप क्वालीफायर में म्यांमा को 1-0 से हराया. भारतीय टीम इस तरह से 64 साल बाद म्यांमा को उसकी सरजमीं पर हराने में सफल रही. जब मैच ड्रॉ की तरफ बढ़ रहा था तब छेत्री ने सुपर सब उदांता सिंह के पास पर बड़ी खूबसूरती से गोल करके भारतीय खेमे में खुशी की लहर दौड़ाई.

उदांता ने जवाबी हमला करते हुए बहुत अच्छा मूव बनाया था और दायें छोर से कप्तान छेत्री को शानदार पास दिया था. छेत्री के गोल करते हुए स्टेडियम में मौजूद 20 हजार दर्शक सन्न रह गए. छेत्री का यह अंतरराष्ट्रीय मैचों में 53वां गोल है. इससे वह एएफसी एशियाई कप यूएई 2019 क्वालीफायर के ग्रुप ए में शीर्ष पर पहुंच गया है. भारतीय कोच स्टीफन न्सटेनटाइन ने टीम के आखिर तक हार नहीं मानने के रवैये की तारीफ की. उन्होंने कहा, "म्यांमा के पास कई मौके थे लेकिन हमने मैदान पर शानदार जज्बा दिखाया. हमने कभी हार नहीं मानी और इससे हमें जीत दर्ज करने में मदद मिली."

भारत को गोल करने का पहला अवसर 20वें मिनट में मिला. जैकीचंद सिंह म्यांमा के रक्षक को छकाकर आगे बढ़े. उन्होंने दायें छोर से लंबा क्रॉस दिया और अगर रॉबिन सिंह ने सही समय पर हेडर लगाया होता तो भारत गोल करने में सफल रहता. इसके बाद गुरप्रीत सिंह ने म्यांमा के आंग थू के शॉट को रोका. खेल के आधे घंटे में भारत के पास गोल करने का शानदार मौका था. रॉबिन के पास जैकीचंद का शॉट मामूली अंतर से बाहर चला गया. छेत्री और इयुगेनसन लिंगदोह के प्रयास भी इस बीच नाकाम साबित हुए. म्यांमा के लिए पहले हाफ के आखिर में क्या को को गोल करने की स्थिति में थे लेकिन भारतीयों उनका प्रयास विफल कर दिया.

खेल के 70वें मिनट में उदांता सिंह को म्यांमा के डिफेंडर ने बाक्स के अंदर गिरा दिया था. भारत ने पेनल्टी की मांग की लेकिन रेफरी ने उसे स्वीकार नहीं किया.
First published: March 29, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर