रियो ओलंपिक: हॉकी में भी हाथ लगी निराशा, बेल्जियम से हारी भारतीय पुरुष हॉकी टीम

आईएएनएस
Updated: August 14, 2016, 10:55 PM IST
रियो ओलंपिक: हॉकी में भी हाथ लगी निराशा, बेल्जियम से हारी भारतीय पुरुष हॉकी टीम
भारतीय पुरुष हॉकी टीम रियो ओलंपिक के नौवें दिन रविवार को हुए क्वार्टर फाइनल मैच में बेल्जियम से 1-3 से हार गई और इसके साथ ही भारतीय टीम का ओलंपिक में सफर खत्म हो गया।
आईएएनएस
Updated: August 14, 2016, 10:55 PM IST
रियो डी जनेरियोभारतीय पुरुष हॉकी टीम रियो ओलंपिक के नौवें दिन रविवार को हुए क्वार्टर फाइनल मैच में बेल्जियम से 1-3 से हार गई और इसके साथ ही भारतीय टीम का ओलंपिक में सफर खत्म हो गया। भारत ने मैच की शुरुआत अच्छी की और पहले क्वार्टर के आखिरी मिनट में उसे पहली सफलता भी मिल गई। मैच का पहला हाफ जहां भारत के नाम रहा, वहीं दूसरे हाफ बेल्जियम के खिलाड़ी छाए रहे। लेकिन इसके बाद भारतीय टीम जैसे अपनी लय ही खो बैठी और अगले तीनों क्वार्टर में बेल्जियम उस पर हावी रहा।

भारत के लिए 15वें मिनट में आकाशदीप सिंह ने पहला गोल किया। यह एक फील्ड गोल था। आकाशदीप सिंह का डी के बाहर से दूर से लगाया गया तेज शॉट बेल्जियम के विकेटकीपर के पैर से तो टकराया, लेकिन वह गेंद को गोलपोस्ट में जाने से रोक नहीं पाए। भारतीय टीम ने पहले हाफ का समापन 1-0 की बढ़त के साथ किया।

लेकिन दूसरे हाफ में सेबास्टियन डॉकियर ने लगातार दो गोल कर बेल्जियम को 2-1 से बढ़त दिला दी। पहला गोल 34वें और दूसरा गोल 45वें मिनट में हुआ। चौथे क्वार्टर में मैच के 50वें मिनट में टॉम बून ने बेल्जियम को तीसरा निर्णायक गोल दिला दिया। बेल्जियम ने तीनों ही गोल फील्ड गोल के जरिए किए।

बेल्जियम को तीन पेनाल्टी कॉर्नर मिले हालांकि वह एक में भी सफल नहीं रहा, वहीं भारत को चार पेनाल्टी कॉर्नर मिले, जिसमें से आकाशदीप एक को गोल में तब्दील करने में सफल रहे।

भारतीय टीम ने पिछले दो मैचों की भांति ही इस मैच के आखिरी पांच-छह मिनटों में गोलकीपर को हटाकर एक अतिरिक्त स्ट्राइकर के साथ खेलना शुरू किया और तेज हमले करने चाहे, लेकिन भारत की यह रणनीति अब तक सफल नहीं हो सकी है।
First published: August 14, 2016
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर