साक्षी मलिक के कोच ने कहा, ओलंपिक 2020 की तैयारी सिर्फ कागजों पर है...

नित्यानंद पाठक | News18Hindi
Updated: March 25, 2017, 10:36 AM IST
नित्यानंद पाठक | News18Hindi
Updated: March 25, 2017, 10:36 AM IST
अंबाला में तीन दिवसीय कुश्ती का महाकुंभ भारत केसरी दंगल-2017 का आगाज हो गया है. इस प्रतियोगिता में जहां विभिन्न राज्यों में नामी पहलवान वार हीरोज स्टेडियम में अपना दमखम दिखाएंगे, वहीं कुश्ती के इस महाकुंभ में खिलाड़ियों पर प्रदेश सरकार की ओर से धनवर्षा भी होगी. इस मौके पर मौजूद भारतीय वुमन रेसलिंग टीम के हेड कोच कुलदीप सिंह ने news18hindi के संवाददाता नित्यानंद पाठक को दिए इंटरव्यू में कई खुलासे किए.

कोच कुलदीप ने ओलंपिक 2020 को लेकर मोदी सरकार द्वारा की तैयारियों के बारे में बताते हुए कहा कि प्लान सिर्फ काग़ज़ों पर है. 7-8 महीनों में बस ओलंपिक की तैयारियों के लिए पीटी उषा, बॉक्सर अखिर कुमार और मैरीकॉम जैसे कुछ दिग्गज खिलाड़ियों को ऑबज़र्वर बनाया गया है. तैयारियां काफी धीमी हैं. 8 महीनों में सिर्फ एक कमिटी ही बन पाई है. अगर एक-दो साल सिर्फ काग़ज़ों में ही निकल गया तो फिर तैयारी कब करेंगे.

लेकिन कोच कुलदीप ने ये भी कहा कि कमिटी या प्रोग्राम बने या न बने मेहनत तो खिलाड़ियों को ही करनी होगी. अगर सुविधा नहीं मिलती है तो और भी ज्यादा मेहनत करनी होगी. हमें सुविधाओं का इंतजार नहीं करना है सिर्फ तैयारियों और मेहनत में लग जाना है.

तीन दिन में होंगे 160 कुश्ती मुकाबले

21 से 23 मार्च तक अंबाला में आयोजित किए जा रहे भारत केसरी दंगल-2017 के दौरान कुल 160 कुश्ती मुकाबले होंगे. इसके लिए बनाए गए 2 पुलों में देश की सर्वश्रेष्ठ 8 टीमों के महिला और पुरुष वर्ग के प्रथम 10 विजेता पहलवानों को कुल एक करोड़ रुपये का पुरस्कार बांटकर दिया जाएगा.
First published: March 22, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर