मौत के बाद क्या होता है उसके सोशल मीडिया अकाउंट्स का?

News18Hindi
Updated: July 16, 2017, 7:50 AM IST
मौत के बाद क्या होता है उसके सोशल मीडिया अकाउंट्स का?
क्या कभी सोचा है कि सोशल मीडिया साइट्स किसी यूजर की मौत के बाद उसके अकाउंट का क्या करती है?
News18Hindi
Updated: July 16, 2017, 7:50 AM IST
भारत में 46.2 करोड़ आबादी इंटरनेट का इस्तेमाल करती है. इनमें से 24 करोड़ से ज़्यादा लोगों का फेसबुक पर अकाउंट मौजूद है. लेकिन क्या कभी सोचा है कि सोशल मीडिया साइट्स किसी यूजर की मौत के बाद उसके अकाउंट का क्या करती है?

जानिए प्राइवेसी कॉन्टेक्ट के तहत आपको गूगल, फेसबुक और टि्वटर से क्या विकल्प मिलते हैं? उसमें मौजूद जानकारी, फोटो, वीडियो और दूसरी फाइल को क्या कोई एक्सेस कर सकता है या नहीं?



Gmail और गूगल प्लस

गूगल कंपनी उपभोक्ता को 'inactive account manager' नामक टूल देती है. इससे हम मैनेज कर सकते हैं कि मौत के बाद अकाउंट का क्या हो? 6 या 12 महीने जैसी एक तय सीमा में इनेक्टिव रहने पर आपके अकाउंट का सारा डाटा ऑटोमेटिक डिलीट हो जाएगा. इसके अलावा किसी व्यक्ति को नॉमिनेट किया जा सकता है, जिसे मौत के बाद आपके मेल मिलते रहेंगे.



Twitter
किसी व्यक्ति की मौत के बाद अगर उससे जुड़ा कोई शख्स टि्वटर को इसकी जानकारी देता है तो अकाउंट डिएक्टिवेट कर दिया जाता है. हालांकि ऐसा करने के लिए मृत्यु प्रमाण पत्र ज़रूरी है. कंपनी इसके अलावा कई जानकारियां मांगती है और फॉर्म भरवाती है. जानकारी देने के 30 दिनों के अंदर टि्वटर कार्रवाई कर अकाउंट बंद कर देता है.



Facebook
फेसबुक लीगेसी कॉन्टेक्ट का विकल्प देता है. किसी शख्स की मौत के बाद किसी को अकाउंट एक्सेस की इजाज़त नहीं देती. लेकिन उस शख्स के दोस्त फेसबुक से अकाउंट को memorialized' करने की रिक्वेस्ट कर सकते हैं. मौत के बाद उस अकाउंट को 'people you may know' या 'suggesting friends' लिस्ट में भी नहीं दिखाया जाता है.
First published: July 16, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर