लश्कर का संदिग्ध आतंकी मुंबई में गिरफ्तार, यूपी एटीएस को कई दिनों से थी तलाश

News18Hindi
Updated: July 17, 2017, 6:56 PM IST
लश्कर का संदिग्ध आतंकी मुंबई में गिरफ्तार, यूपी एटीएस को कई दिनों से थी तलाश
गिरफ्त में सलीम खान
News18Hindi
Updated: July 17, 2017, 6:56 PM IST
उत्तर प्रदेश एटीएस ने मुम्बई एयरपोर्ट से लश्कर-ए-तैएबा के संदिग्ध आतंकी सलीम खान को गिरफ्तार किया है. सुरक्षा एजेंसियां सलीम से पूछताछ कर रही हैं. जल्द ही उसे ट्रांजिट रिमांड पर उत्तर प्रदेश लाया जाएगा.

शुरुआती जानकारी के अनुसार, सलीम पिछले दिनों फैजाबाद से पकड़े गए आईएसआई एजेंट आफताब का फाइनेंसर था. सेना की मुखबिरी के लिए आफताब को सलीम ने ही फाइनेंस किया था. जानकारी के अनुसार, सलीम लश्कर के मुजफ्फराबाद कैंप में भी ट्रेनिंग भी ले चुका है.

दरअसल, 3 मई को उत्तर प्रदेश एटीएस, मिलि​ट्री इंटेलिजेस और यूपी इंटेलिजेंस की संयुक्त टीम ने फैजाबाद से एक आईएसआई एजेंट आफताब अली को गिरफ्तार किया था.

एटीएस को जांच में पता चला कि आफताब अली के संपर्क नई दिल्ली स्थिति पाकिस्तानी दूतावास से हैं. यह नई दिल्ली जाकर पाकिस्तानी दूतावास के एक अधिकारी से मिल भी चुका है. यही नहीं आफताब ने पाकिस्तान में आईएसआई से जासूसी का प्रशिक्षण भी लिया है. मामले में एटीएस आफताब के बैंक खातों की जानकारी की गई तो तो सलीम खान का नाम सामने आया. वही आफताब को पैसे मुहैया कराता था.

रामपुर में सीआरपीएफ कैंप पर हमले मामले में गिरफ्तार आतंकियों ने लिया था नाम

आईजी एटीएस असीम अरुण ने बताया कि दरअसल यूपी एटीएस को सलीम की 2008 से तलाश थी. इसी व्यक्ति का नाम 2008 में भी एटीएस के रडार पर आया था. 2008 में रामपुर सीआरपीएफ हमले के लिए गिरफ्तार आतंकियों कौसर और शरीफ ने बताया था कि सलीम भी उनके साथ 2007 में मुजफ्फराबाद के आतंकी कैंप में ट्रेनिंग कर रहा था.

लुक आउट नोटिस के जरिए एयरपोर्ट पर रोका गया

सलीम के लिए लुक आउट जारी किया गया था, जिसके आधार पर मुंबई लौटते वक्त उसे रोका गया. सूचना मिलते ही यूपी एटीएस ने फौरन पहुंचकर उसे गिरफ्तार कर लिया.

असीम अरुण ने बताया कि सलीम खान मूलतः उत्तर प्रदेश के जिला फतेहपुर के ग्राम बंदीपुर थाना हाथगांव का रहने वाला है. सलीम से महाराष्ट्र और यूपी एटीएस द्वारा मुंबई में पूछताछ की जा रही है. मुंबई में निरीक्षक आलोक सिंह व टीबी सिंह कार्रवाई का रहे हैं.
First published: July 17, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर