गढ़वाल आयुक्त ने ली मंडल के सभी अधिकारियों की बैठक 

shailender bhandari | ETV UP/Uttarakhand

First published: January 13, 2017, 9:04 PM IST | Updated: January 13, 2017, 9:04 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp
गढ़वाल आयुक्त ने ली मंडल के सभी अधिकारियों की बैठक 
जिलाधिकारियों और पुलिस अधिकारियों के साथ विधानसभा सामान्य निर्वाचन 2017 को लेकर शांति एवं सुरक्षा व्यवस्था के साथ ही आदर्श आचार संहिता के क्रियांवयन को लेकर विस्तृत चर्चा की गई.

गढ़वाल आयुक्त विनोद शर्मा और पुलिस उप महानिरीक्षक गढ़वाल पुष्पक ज्योति घिल्डियाल के संयुक्त अध्यक्षता में गढ़वाल मंडल के विभिन्न जिलों के जिलाधिकारियों एवं पुलिस अधिकारियों के साथ विधानसभा सामान्य निर्वाचन 2017 को लेकर शांति एवं सुरक्षा व्यवस्था के साथ ही आदर्श आचार संहिता के क्रियांवयन को लेकर विस्तृत चर्चा की गई.

इस अवसर पर आयुक्त गढ़वाल मंडल विनोद शर्मा ने उपस्थित अधिकारियों से चुनाव संबंधी विभिन्न जानकारियों से अवगत कराते हुए कहा कि शासन का दायित्व है कि विधानसभा चुनाव पूर्ण रूप से निर्विघनए निष्पक्षता एंव पारदर्शिता के साथ सम्पन्न कराये जायें.

उन्होंने जनपद स्तर पर बनाए गए एसएसटीए वीवीटीए फ्लाईंग स्क्वॉड आदि की समीक्षा की गई. उन्होंने अधिकारियों से कहा कि जनपद स्तर पर बनाये गये निर्वाचन नियंत्रण कक्षों को 24 घंटें खोलें जाएं तथा वहां पर आने वाली शिकायतों का निर्धारित समय में निस्तारित किया जाये.

उन्होंने अधिकारियों को अनुशासन का पाठ पढ़ाया तथा अधिकारियों से विनम्रता पूर्वक व्यवहार करने की भी बात कही. उन्होंने कहा कि बर्फबारी वालें स्थानों में बर्फबारी के दौरान चार चॉपर लगाये जाएंगे. कहा कि दो चॉपर देहरादून मेंए एक.एक पौड़ी व उत्तरकाशी में तैनात किये जाएंगे. उन्होंने कहा कि पुलिस व प्रशासन की गाड़ियों में ध्वनि उघोषक यंत्रों का भी इस्तेमाल किया जाए.

उन्होंने कहा कि प्रशासन की जिन वाहनों में ध्वनि उघोषक यंत्रों की व्यवस्था नहीं हैं उन पर माइकों की शीघ्र ही व्यवस्था की जाए. आयुक्त ने आदर्श आचार संहिता के दौरान सामूहिक समन्वयता बनाने को कहा. आयुक्त ने कहा कि 19 जनवरी से ऑबजवर जिले की सभी विधानसभाओं का भ्रमण करेंगे.

भ्रमण के दौरान पूरी जानकारी से अवगत कराने के निर्देश भी पुलिस के अधिकारियों को दिए गए. आयुक्त ने सभी अधिकारियों से राष्ट्रीय व राज्य दिवसों पर किसी भी राजनेता को आमंत्रित करने से परहेज करने को कहा. उन्होंने कार्यक्रमों के दौरान किसी भी सरकार की उपलब्धियों का बखान नहीं करने के भी निर्देश दिये.

facebook Twitter google skype whatsapp