बर्फबारी से पर्यटकों के साथ किसानों के भी आए अच्छे दिन

Sunil Silwal | ETV UP/Uttarakhand
Updated: January 11, 2017, 11:12 AM IST
बर्फबारी से पर्यटकों के साथ किसानों के भी आए अच्छे दिन
सात जनवरी को पहाड़ों की रानी मसूरी में सीजन का पहला हिमपात हुआ तो सभी के चेहरे खिल उठे. फसलों को जीवनदान मिल गया.
Sunil Silwal | ETV UP/Uttarakhand
Updated: January 11, 2017, 11:12 AM IST
पहाड़ों की रानी मसूरी, धनौल्टी सहित पूरे पहाड़ी क्षेत्र के लिए बर्फबारी किसी वरदान से कम नहीं है. पर्यटन व्यवसाय सहित किसानों के लिए बर्फबारी शुभ संकेत माने जा रहे हैं. शहर में गर्मियों में होने वाली पानी की कमी से भी कुछ हद तक निजात मिलने की उम्मीद है.

सात जनवरी को पहाड़ों की रानी मसूरी में सीजन का पहला हिमपात हुआ तो सभी के चेहरे खिल उठे. हजारों की संख्या में सैलानी मसूरी, धनौल्टी बर्फबारी को देखने के लिए पहुंच गये हैं. जिससे पर्यटन के लिहाज से ऑफ सीजन में भी स्थानीय लोगों को अच्छा व्यवसाय मिल गया. क्यारकुली गांव के किसान लाली सिंह और रशिम सिंह ने कहा कि जो खेत बिना बारिश के मुरझा गये थे, उनमें हरियाली लौट आई.

उधर पर्यटन व्यवसाय से जुड़े लोग धनप्रकाश अग्रवाल का कहना है कि मसूरी शहर में पर्यटन सीजन में पेयजल की बड़ी समस्या हर साल रहती है. पिछले तीन साल से शहर में ठीक से बर्फबारी नहीं होने से पानी की समस्या बनी रही, लेकिन इस बार बर्फबारी ठीक होने से गर्मियों में पानी की समस्या कम होगी. बर्फबारी के बाद शहर में भले ही शीतलहर से स्थानीय लोग ठंड से परेशान हो गये हों, लेकिन बर्फबारी के दूरगामी परिणाम भी अच्छे होंगे, ऐसा जानकारों का मानना है.
First published: January 11, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर