ओबामा बोले, भविष्य में कोई हिंदू भी बन सकता है अमेरिकी राष्ट्रपति

भाषा

Updated: January 20, 2017, 8:55 AM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

अमेरिका के निवर्तमान राष्ट्रपति बराक ओबामा ने देश में नस्लीय विविधता का समर्थन करते हुए भविष्य में एक महिला, एक हिंदू, एक यहूदी और एक लैटिनी के देश का राष्ट्रपति बनने की उम्मीद जताई और कहा कि विविध नस्लों और आस्थाओं से ऊपर उठने वाले योग्य लोग अमेरिका की ताकत को दर्शाते हैं.

ओबामा ने अमेरिका के राष्ट्रपति के तौर पर व्हाइट हाउस में अपनी अंतिम प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा- 'अगर हम सभी के लिए अवसर खुले रखते हैं, तो, हमें एक महिला राष्ट्रपति मिलेगी, हमें एक लैटिनी राष्ट्रपति मिलेगा और हमें एक यहूदी, एक हिंदू राष्ट्रपति मिलेगा. ओबामा से जब यह पूछा गया कि क्या वे फिर से किसी अश्वेत राष्ट्रपति के चुने जाने की उम्मीद करते हैं, तो पूर्व राष्‍ट्रपति ने, अमेरिका में जातीय, नस्लीय और धार्मिक विविधता का स्पष्ट जिक्र करते हुए कहा- 'कौन जानता है कि हमें कौन सा राष्ट्रपति मिलेगा. मुझे लगता है कि हमें एक बिंदु पर ऐसे राष्ट्रपति मिलेंगे, जिसके बारे में वास्तव में किसी को नहीं पता होगा कि उन्हें क्या कह कर पुकारना है, और यह अच्छा है. उन्होंने कहा कि हम देखेंगे कि योग्य लोग हर जाति, आस्था से उपर उठेंगे क्योंकि यही अमेरिका की ताकत है. जब हर किसी को मौका मिलता है और हर कोई मैदान में होता है तो हम और बेहतर होते हैं.

ओबामा बोले, भविष्य में कोई हिंदू भी बन सकता है अमेरिकी राष्ट्रपति
अमेरिका के निवर्तमान राष्ट्रपति बराक ओबामा ने देश में नस्लीय विविधता का समर्थन करते हुए भविष्य में एक महिला, एक हिंदू, एक यहूदी और एक लैटिनी के देश का राष्ट्रपति बनने की उम्मीद जताई।

ओबामा साल 2008 में अमेरिका के पहले अश्वेत राष्ट्रपति बनकर इतिहास रचा था और उन्हें साल 2012 में फिर से राष्ट्रपति चुना गया. रिपब्लिकन पार्टी के डोनाल्ड ट्रंप शुक्रवार को शपथ ग्रहण के बाद राष्ट्रपति पद का कार्यकाल संभालेंगे.

First published: January 20, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp