नासा ने जानबूझकर करवाया था ये प्लेन क्रैश, 32 साल बाद जारी किया दहलाने वाला वीडियो!

News18India

Updated: December 16, 2016, 8:33 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

नई दिल्ली। कैलिफोर्निया में एक खौफनाक प्रयोग ने सबको हैरत में डाल दिया। यहां एक विमान लैंडिंग के दौरान क्रैश हो गया जिसके बाद पूरा विमान आग की लपटों और धुएं के गुबार में तब्दील हो गया। लेकिन, आपको ये जानकर हैरानी होगी कि इस खौफनाक क्रैश में किसी का बाल भी बांका नहीं हुआ।

सोशल मीडिया पर जारी हुई तस्वीर में साफ है कि विज्ञान और रिसर्च की दुनिया में नासा खतरनाक से खतरनाक एक्सपेरिमेंट करने में पीछे नहीं रहता। ऐसे प्लेन क्रैश में किसी का भी बच पाना नामुमकिन है। लेकिन, लैंडिंग के दौरान क्रैश हुए इस विमान में फैली आग की लपटों में कोई हताहत नहीं हुआ। क्योंकि धू-धू कर जलते इस प्लेन में कोई इंसान नहीं बल्कि इंसानों की जगह इसमें इंसानी पुतले थे।

क्योंकि ये एक प्रयोग था इसलिए जिसमें जानबूझकर ऐसी टक्कर कराई गई, ताकि ऐसे हादसे होने की सूरत में बचाव की तैयारी की जा सके। साल 1984 के फुटेज में दिख रही प्लेन क्रैश की घटना जानबूझकर करवाई गयी थी। ये नासा और फेडेरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन का साझा एक्सपेरिमेंट था जिसमें बोइंग 720 को कैलीफोर्निया के एयरपोर्ट पर ऐसे उतारा गया कि वो क्रैश हो सके।

दरअसल, इस प्लेन में भरे एक खास तरह के ईंधन का टेस्ट हो रहा था। दावा था कि ये ईंधन प्लेन क्रैश में लगने वाली आग को रोकेगा या कम कर देगा। लेकिन, वीडियो में साफ हो गया कि ये दावा गलत साबित हुआ और फ्यूल ने अपना काम नहीं किया। इस आग को बुझाने में तकरीबन एक घंटा लगा।

First published: December 16, 2016
facebook Twitter google skype whatsapp