विकीलीक्स को जानकारी देने वाली चेल्सी मैनिंग की सजा ओबामा ने तीन दशक घटाई

भाषा

Updated: January 18, 2017, 10:00 AM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

वॉशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अमेरिकी गोपनीय जानकारी और दस्तावेज विकीलीक्स को देने के मामले में जेल में बंद चेल्सी मैनिंग को मिली 35 साल की कैद को कम करते हुए उसे लगभग तीन दशक पहले ही रिहा करने की अनुमति दे दी है। मंगलवार को सजा में की गई कमी के अनुसार ट्रांसजेंडर मैनिंग को अब 17 मई को रिहा कर दिया जाएगा।

सैनिक के रूप में सेवाएं दे चुकीं मैनिंग अगस्त 2013 में दोषी करार दिए जाने के बाद से जेल में बंद है। वह पिछले साल दो बार खुदकुशी की कोशिश भी कर चुकी हैं। व्हाइट हाउस ने सजा में कमी किए जाने के बाद कहा कि सैन्य विश्लेषक के तौर पर सेवाएं दे चुकी मैनिंग को 17 मई 2017 को रिहा किया जाएगा। उसे अवैध तरीके से गोपनीय दस्तावेज हासिल करने और उसे विकीलीक्स को देने के लिए 35 साल कैद की सजा सुनाई गई थी।

विकीलीक्स को जानकारी देने वाली चेल्सी मैनिंग की सजा ओबामा ने तीन दशक घटाई
अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अमेरिकी गोपनीय जानकारी और दस्तावेज विकीलीक्स को देने के मामले में जेल में बंद चेल्सी मैनिंग को मिली 35 साल की कैद को कम कर दिया।

विकीलीक्स ने कहा कि राष्ट्रपति ओबामा ने सेना की पूर्व खुफिया विश्लेषक को क्षमादान देकर शायद उसकी जिंदगी बचा ली है लेकिन विकीलीक्स ने यह भी कहा कि यह फैसला उस नुकसान की भरपाई नहीं करता, जिसे वह झेल चुकी हैं। घोषणा के बाद किए ट्वीट में विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे ने हर उस व्यक्ति का धन्यवाद किया, जिसने चेल्सी मैनिंग के क्षमादान के लिए अभियान चलाया। आपके साहस और दृढ़ निश्चय ने असंभव को संभव बना दिया। असांजे ने पूर्व में लिए अपने उस संकल्प का जिक्र नहीं किया, जिसमें उन्होंने कहा था कि यदि ओबामा मैनिंग को क्षमादान दे देते हैं तो वह अमेरिका के सामने प्रत्यर्पण करवा लेंगे।

First published: January 18, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp