चीनी अखबार का दावा, ड्रोन से हमारी जासूसी कर रहा था अमेरिका

भाषा
Updated: December 19, 2016, 7:42 AM IST
चीनी अखबार का दावा, ड्रोन से हमारी जासूसी कर रहा था अमेरिका
चीनी सरकार के एक अखबार ने दावा किया है कि अमेरिकी समुद्र विज्ञान सर्वेक्षण जहाज देश के खिलाफ जासूसी कर रहा था, जिससे दक्षिण चीन सागर में चीनी नौसैना के जहाजों को खतरा पैदा हुआ है।
भाषा
Updated: December 19, 2016, 7:42 AM IST

बीजिंग। चीनी सरकार के एक अखबार ने दावा किया है कि अमेरिकी समुद्र विज्ञान सर्वेक्षण जहाज देश के खिलाफ जासूसी कर रहा था, जिससे दक्षिण चीन सागर में चीनी नौसैना के जहाजों को खतरा पैदा हुआ है। दरअसल, यह जहाज जल के अंदर के काम करने वाले उस ड्रोन का नियंत्रण करता है जिसे चीन ने जब्त किया है।

सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने दावा किया कि सामरिक क्षेत्र में अमेरिकी नौसेना की ऐसी गतिविधि बहुत ही धड़ल्ले से हो रही है। अखबार ने कहा कि अमेरिका का दावा है कि ग्लाइडर लवणता और जल के तापमान जैसे अगोपनीय आंकड़े इकट्ठे कर रहा था जो अंतरराष्ट्रीय कानून के मुताबिक नियमित कार्य है। लेकिन यह दलील बेतुकी है।

चीनी नौसेना ने कहा कि उसकी नौसेना ने बीती रात जो ड्रोन जब्त किया है उसे उपयुक्त तरीके से लौटा दिया जाएगा। इससे पहले अमेरिका ने यह मुद्दा चीन के सामने उठाया था लेकिन उसने कोई समय सीमा नहीं दी थी।

संपादकीय में कहा गया है कि यूएसएनएस बोडिच (ड्रोन को नियंत्रित करने वाला जहाज) तब और अब चीन के आसपास के जल में नजर आया। इससे 2002 में पीला सागर में चीन और अमेरिका के बीच एक विवाद पैदा हुआ था।

First published: December 19, 2016
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर