सीपेक पर पाकिस्तान की पेशकश पर भारत के जवाब के इंतजार में चीन

भाषा

Updated: December 24, 2016, 9:53 AM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

बीजिंग। चीन ने शुक्रवार को कहा कि 46 अरब डॉलर के आर्थिक कोरिडोर से भारत के जुड़ने को लेकर उसका स्पष्ट रूख है लेकिन वह इसे लेकर एक शीर्ष पाकिस्तानी जनरल की ओर से की गई पेशकश पर नई दिल्ली का जवाब जानना चाहता है। पाकिस्तानी सेना के दक्षिणी कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल आमिर रियाज के बयान के बारे में पूछे जाने पर चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा कि मैं उत्सुक हूं कि क्या इस पर भारत कहेगा कि पाकिस्तान से अच्छा संकेत मिला है।

हुआ ने कहा कि चीन का मत है कि चीन-पाकिस्तान आर्थिक कोरिडोर (सीपेक) सहयोग का समूह है और हम आशा करते हैं कि यह कार्यक्रम न केवल पाकिस्तान के हित की रक्षा कर सकता है बल्कि यह एशिया और इस क्षेत्र के हित की रक्षा करेगा।  उन्होंने कहा कि सीपेक चीन के एक क्षेत्र और एक मार्ग (ओबीओआर) का महत्वपूर्ण हिस्सा है। ओबीओआर को रेशम मार्ग परियोजना के नाम से भी जाना जाता है।

सीपेक पर पाकिस्तान की पेशकश पर भारत के जवाब के इंतजार में चीन
चीन ने आर्थिक कोरिडोर से भारत के जुड़ने को लेकर उसका स्पष्ट रूख है लेकिन वह इस संदर्भ में एक शीर्ष पाकिस्तानी जनरल की ओर से की गई पेशकश पर नई दिल्ली का जवाब जानना चाहता है।

पाकिस्तानी सेना के दक्षिणी कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल रियाज ने इस हफ्ते कथित तौर पर कहा था कि भारत को पाकिस्तान के साथ शत्रुता  त्यागनी चाहिए और सीपेक से जुड़ जाना चाहिए।

First published: December 24, 2016
facebook Twitter google skype whatsapp