चीन के विकास से परेशान भारत सीमा पर फैला रहा तनाव: चीनी मीडिया

News18Hindi
Updated: July 18, 2017, 9:44 AM IST
चीन के विकास से परेशान भारत सीमा पर फैला रहा तनाव: चीनी मीडिया
Demo Pic
News18Hindi
Updated: July 18, 2017, 9:44 AM IST
चीन ने डोका ला मसले पर भारत को फिर से धमकी दी है. चीन के मीडिया ने लिखा है कि चीन युद्ध से नहीं डरता है. अगर भारत कुछ जगहों पर टकराव रखता है तो उसे पूरी वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर मुकाबला करना होगा.

चीनी सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स की रिपोर्ट में आगे लिखा है कि चीन भारत के वास्तविक नियंत्रण वाली जमीन को भारतीय क्षेत्र के तौर पर मान्यता नहीं देता है. दोनों देशों के बीच सीमा को लेकर बातचीत अब भी जारी है लेकिन बातचीत के वातावरण में भारत ने जहर घोल दिया है.

लेख में भारत की सेना के डोका ला में होने को चीन की संप्रभुता को खतरा बताया गया है. इसमें लिखा है, 'चीन ने भारत के साथ सैन्य टकराव से बचने की बहुत कोशिश की है, लेकिन चीन अपनी संप्रभुता की सुरक्षा के लिए युद्ध से नहीं डरता है और खुद को लंबे समय के मुकाबले के लिए तैयार करेगा.'



चीन के विकास से भारत को चिढ़
लेख में लिखा है कि 3500 किमी. की सीमा पर हमेशा से विवाद रहा है. 1962 के युद्ध से भारत लगातार उकसा रहा है. चीन को भविष्य के टकराव और मुकाबले के लिए तैयारी करनी चाहिए. अगर भारत सीमा क्षेत्र में ज्यादा संसाधन लगाने की सोचता है, तो ऐसा ही होगा. चीन भी अपनी बढ़ती राष्ट्रीय दृढ़ता के साथ दूरस्थ सीमा क्षेत्रों में संसाधान भेजने में सक्षम है.

हमारे विकास से परेशान है भारत: चीन
चीनी अखबार ने चीन के विकास के कारण भारत की बढ़ती चिंताओं को इस विवाद की वजह बताया है. इसमें लिखा है कि भारत और चीन दोनों ही उपनिवेश रहे हैं. दोनों ने तेज आर्थिक विकास हासिल किया है. लेकिन, चीन ज्यादा तेजी से बढ़कर आज दुनिया की नंबर 2 अर्थव्यवस्था बन गया है. नई दिल्ली चीन के इस तेज रफ्तार उत्थान से गहरी चिंता में है. सीमा पर हो रहा उकसावा भारत की चिंताएं दिखाता है.

अखबार ने भी लिखा है कि जिस तरह से विरोध चल रहा है चीन को टकराव के लिए बिल्कुल तैयार रहना चाहिए. हालांकि, इसके साथ ही समझदारी भी बनाए रखनी चाहिए. चीन में भारतीय सेना को डोका ला  सेक्टर से हटाने के लिए लगातार आवाज उठ रही है, वहीं भारतीय जनता की राय में चीन के साथ युद्ध की बात सामने आ रही है. हालांकि, दोनों पक्षों को संयम रखने और इस टकराव को नियंत्रण से बहार होने से बचने की जरूरत है.
First published: July 18, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर