बर्लिन: क्रिसमस के लिए सजे मार्केट में दौड़ा दिया ट्रक, 12 की मौत, कई घायल

News18India
Updated: December 20, 2016, 11:55 PM IST
News18India
Updated: December 20, 2016, 11:55 PM IST
बर्लिन। उस बाज़ार को क्रिसमस के त्योहार के लिए गुलज़ार किया गया था। जश्न के पहले की तैयारी भी किसी जश्न से कम नहीं थी। लेकिन कहते हैं ना हादसा न तो वक्त देखता है और न जगह। कुछ ऐसा ही हुआ बर्लिन शहर के उस बाज़ार में जब एक तेज़ रफ्तार ट्रक ने 12 लोगों के जिस्म की जुंबिश को हमेशा के लिए खत्म कर दिया। पहली नज़र में ये एक हादसा सा दिखता है। लेकिन अगर पुलिस वालों की माने तो इस हादसे के पीछे एक साज़िश छिपी हुई है। आतंक की एक ऐसी कहानी जिसके पन्ने जैसे-जैसे पलटते जाएंगे खौफनाक सच सामने आता जाएगा।

गृह मंत्री थॉमस दे मेजिएरे ने सरकारी टेलीविजन चैनल से कहा है कि मैं फिलहाल ‘हमला’ शब्द का प्रयोग नहीं करना चाहता लेकिन कई चीजें इस ओर इशारा कर रही हैं।  पुलिस ने कहा कि क्रिसमस से एक सप्ताह से भी कम समय पहले हुई इस घटना में कम से कम 12 लोगों की मौत हो गई है और 48 घायल हो गए।

Berlin1_News18_201216

बर्लिन पुलिस के प्रवक्ता ने बताया कि कम से कम 48 लोग घायल हो गए हैं, जिनमें से कुछ की हालत गंभीर है। कुछ लोगों की मौत भी हो गई है। पर्यटकों के बीच लोकप्रिय मध्य स्कवॉयर के बाजार के फुटपाथ पर एक ड्राइवर ने ट्रक घुसा दी, जिसके के बाद मौके पर भगदड़ मच गई। इसके बाद मौके पर एंबुलेंस और भारी हथियारों से लैस पुलिस घटनास्थल पर पहुंची।

Berlin2_News18_201216

ऑस्ट्रेलियाई प्रत्यक्षदर्शी तृषा ओ’नील ने ऑस्ट्रेलियाई प्रसारण निगम को बताया कि जब ट्रक भीड़ भरे बाजार में घुसा तो उस समय वह घटनास्थल से कुछ ही मीटर की दूरी पर थी। मैंने तेज गति से आते बड़े काले ट्रक को देखा जिसने बाजार में घुसकर कई लोगों को रौंद दिया, तभी लाइटें बंद हो गईं और सबकुछ नष्ट हो गया।

बर्लिन के दो प्रमुख समाचार पत्रों बरलाइनर मोर्गेनपोस्ट और बरलाइनर जेतुंग ने खबर दी है कि ट्रक बाजार में प्रसिद्ध स्मारक केजर विलहेलम मेमोरियल चर्च के बाहर घुस गया। मोर्गेनपोस्ट ने एक तस्वीर पोस्ट की है, जिसमें टूटे हुए टेबल और स्टॉल दिख रहे हैं। बरलाइनर जेतुंग ने कहा है कि पुलिस का मानना है कि कई लोग घायल हुए हैं, लेकिन अभी पुलिस ने इसकी पुष्टि नहीं की है।
First published: December 20, 2016
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर