शानदार राह पर हैं भारत के साथ रक्षा संबंध: पेंटागन

भाषा
Updated: January 4, 2017, 4:48 PM IST
शानदार राह पर हैं भारत के साथ रक्षा संबंध: पेंटागन
Photo: Getty Images
भाषा
Updated: January 4, 2017, 4:48 PM IST

वॉशिंगटन। नव निर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के पदभार संभालने से कई दिन पहले पेंटागन ने कहा है कि भारत और अमेरिका के बीच के रक्षा संबंध एक ‘शानदार राह’ पर हैं और अगले प्रशासन में एवं उसके बाद भी ये ऐसे ही रहेंगे। पेंटागन के प्रेस सचिव पीटर कुक ने संवाददाता सम्मेलन में संवाददाताओं से कहा कि रक्षा मंत्री एश्टन कार्टर की इसके (भारत-अमेरिकी संबंध) प्रति प्रतिबद्धता स्पष्ट है। हमारा मानना है कि भारत के साथ रक्षा संबंध शानदार राह पर हैं और अगले प्रशासन में एवं उसके बाद भी ये ऐसे ही रहेंगे।

भारत के मित्र और भारत एवं अमेरिका के मजबूत रक्षा संबंध में यकीन करने वाले व्यक्ति के तौर पर पहचाने जाने वाले कार्टर ऐसे एकमात्र अमेरिकी रक्षामंत्री हैं, जिन्होंने भारत की कई यात्राएं की हैं। रक्षामंत्री के रूप में उनकी अंतिम विदेश यात्राओं में नई दिल्ली भी शामिल थी। इससे पहले कार्टर ‘भारत अमेरिका रक्षा प्रौद्योगिकी एवं स्थानांतरण पहल’ (डीटीटीआई) में अहम भूमिका निभा चुके हैं। इसके तहत दोनों देशों ने कई संयुक्त विकास एवं सह-उत्पादन परियोजनाओं की शुरुआत की है।

कुक ने कहा कि भारत के साथ हमारे रक्षा संबंध सुधारने के लिए आपने इस विभाग, इस रक्षामंत्री और इस प्रशासन की प्रतिबद्धता देखी है। अमेरिका के पुराने पड़ चुके हथियार नियंत्रण कानून के कारण भारत को प्रौद्योगिकी हस्तांतरण करने पर लगे प्रतिबंधों से जुड़े सवाल के जवाब में कुक ने कहा कि निश्चित तौर पर इसके कई पहलू हैं। उन्होंने कहा कि भारत या किसी अन्य देश को प्रौद्योगिकी निर्यात करने के मामले में हमारी कुछ सीमाएं हैं। उन्होंने कहा कि सिर्फ भारत के लिए ही नहीं बल्कि किसी भी अन्य देश के मामले में हम नियमों का पालन करेंगे।

First published: January 4, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर