लाल कलंदर की दरगाह पर हमले के बाद भी ‘धमाल’, आतंकियों को कड़ा संदेश

भाषा
Updated: February 18, 2017, 9:17 AM IST
लाल कलंदर की दरगाह पर हमले के बाद भी ‘धमाल’, आतंकियों को कड़ा संदेश
प्रतीकात्मक फोटो: साभार ट्विटर
भाषा
Updated: February 18, 2017, 9:17 AM IST
कराची. पाकिस्तान के सिंध प्रांत की लाल शाहबाज कलंदर दरगाह पर कल हुए आत्मघाती विस्फोट के बाद आज जायरीनों ने आतंकियों को करारा संदेश दिया. आज यहां बड़ी संख्या में जायरीन सूफी दरगाह पर पहुंचे और रोजमर्रा की रस्मों को अदा किया. इस हमले में कम से कम 88 लोगों की जान चली गई थी.

जायरीनों ने शाम की नमाज के बाद दरगाह परिसर में आध्यात्मिक नृत्य ‘धमाल’ भी किया. कल के हमले के बाद आज दरगाह परिसर में सुरक्षा कड़ी कर दी गई थी. सिंध के सहवान में लाल शाहबाज कलंदर सूफी दरगाह पर आईएसआईएस के आत्मघाती हमलावर ने खुद को उड़ा लिया था जिसमें 88 लोगों की मौत हो गई थी.

वहीं पाकिस्तानी सुरक्षा बलों ने हमले के एक दिन बाद कार्रवाई में 100 से अधिक आतंकवादियों को मार गिराया. सेना की मीडिया इकाई आईएसपीआर ने कहा कि बीती रात से बड़ी संख्या में संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया है.

बयान में यह नहीं स्पष्ट नहीं किया गया है कि आतंकवादी कहां मारे गए अथवा कहां से गिरफ्तार किए गए. सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने लोगों को विश्वास दिलाया कि दुश्मनी के एजेंडा को सफल नहीं होने दिया जाएगा, चाहे इसके लिए कोई भी कीमत चुकानी पड़े. अधिकारियों ने बताया कि आगामी दिनों में कार्रवाई और तेज कर दी जाएगी क्योंकि सरकार ने आतंकवाद का सफाया करने का संकल्प लिया है.

पाकिस्तान में सप्ताहांत से हुए कम से कम आठ आतंकवादी हमलों के बाद संघीय एवं प्रांतीय सरकारों ने एक साथ कार्रवाई शुरू की है. प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की अध्यक्षता वाली एक उच्च स्तरीय बैठक में इस सप्ताह इस बात पर सहमति जताई गई कि राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा पैदा करने वाले आतंकवादियों को ‘मिटा दिया’ जाना चाहिए.

अधिकारियों ने बताया कि दरगाह में हुए विस्फोट में घायल हुए कई लोगों की हालत नाजुक है और उन्हें कराची के अस्पताल में ले जाया जाएगा.
First published: February 17, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर