महिलाएं हिजाब पहनें या नहीं नौकरी देने वाला तय करेगा: यूरोपीयन कोर्ट

News18Hindi

Updated: March 14, 2017, 7:29 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

यूरोपीयन यूनियन की सबसे बड़ी अदालत यूरोपीयन कोर्ट ऑफ़ जस्टिस (ईसीजे) ने एक बड़ा फैसला सुनाते हुए मंगलवार को कहा कि नौकरी देने वाली कंपनी के पास ये अधिकार सुरक्षित है कि वो अपने यहां काम करने वाली महिलाओं को हिजाब पहनने देती है या नहीं.

बता दें कि हिजाब को लेकर ज्यादातर यूरोपीय देशों में बहस छिड़ी हुई है और इस्लामिक संगठन हिजाब पहनने को धार्मिक स्वतंत्रता का मसला बता रहे हैं.

महिलाएं हिजाब पहनें या नहीं नौकरी देने वाला तय करेगा: यूरोपीयन कोर्ट
Imgae Source: Getty Images

क्या कहा कोर्ट ने

ईसीजे ने कार्यस्थल पर धार्मिक मान्यताओं से जुड़े कपड़े पहनने या ऐसा ही कोई सिंबल लेकर ऑफिस आए-जाए. कोर्ट ने अपने आदेश में साफ़ कहा कि- अगर कोई ऑफिस किसी राजनीतिक, धार्मिक या अन्य मान्यताओं से जुड़े सार्वजनिक प्रदर्शन को प्रतिबंधित करता है तो इसे भेदभाव नहीं माना जाएगा.

कोर्ट फ्रांस और बेल्जियम की रहने वाली दो महिलाओं से जुड़ी एक पिटीशन पर सुनवाई कर रही थी. इन दोनों ही महिलाओं ने बिना हिजाब के ऑफिस आने से साफ़ इनकार कर दिया था. कोर्ट ने हिजाब के बारे में भी स्पष्ट कहा कि अगर कोई कंपनी अपने मुलाजिमों को इसे पहनकर आने से इनकार कर रही है तो इसे भेदभाव नहीं माना जा सकता.

First published: March 14, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp