बोले पीएम नवाज शरीफ, जबरन धर्मांतरण और दूसरे धर्मस्थल को तोड़ना इस्लाम में गुनाह

पीटीआई
Updated: March 14, 2017, 10:57 PM IST
बोले पीएम नवाज शरीफ, जबरन धर्मांतरण और दूसरे धर्मस्थल को तोड़ना इस्लाम में गुनाह
पीटीआई
Updated: March 14, 2017, 10:57 PM IST

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कहा है कि इस्लाम में गैर- मुस्लिमों के पूजा स्थलों पर हमला करना और जबरन धर्म परिवर्तन को अपराध माना गया है. शरीफ ने ये बात पाकिस्तान में होली पर आयोजित कार्यक्रम में शिरकत लेते हुई कही.

पाकिस्तान में बढ़ते धार्मिक कट्टरपंथ को निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि कौन जन्नत जाएगा कौन नहीं ये तय करना हमारा काम नहीं, बल्कि पाकिस्तान को इस दुनिया की जन्नत बनाना असली काम है.

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में हर इंसान को अपना धर्म मानने की आजादी है.पाकिस्तान का वजूद इसलिए नहीं आया कि वो किसी धर्म के खिलाफ था. मैं ऐसा पाकिस्तान चाहता हूं जहां हर धर्म के लिए बराबर मौके और खुशहाल जिंदगी हो.

आयोजन में पाकिस्तानी हिंदू कम्यूनिटी को संदेश देते हुए उन्होंने कहा कि इस्लाम में हर इंसान की अहमियत है फिर चाहे किसी भी मजहब का हो.

पाकिस्तान में बीते कई अरसों से कट्टरपंथ की मार झेल रहा है. ऐसे में नवाज शरीफ का बयान अहमियत रखता है.

First published: March 14, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर