भारत-अमेरिका संबंधों में तनाव का वजह हो सकता है एच-1 बी वीजा: बिस्वाल

भाषा

Updated: March 12, 2017, 9:50 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

दक्षिण और मध्य एशिया मामलों की अमेरिका की पूर्व सहायक विदेश मंत्री निशा देसाई बिस्वाल ने कहा है कि एच-1बी वीजा का मुद्दा भारत-अमेरिका संबंधों में तनाव का स्रोत हो सकता है. उन्होंने मुद्दे पर तर्कसंगत संवाद का आह्वान किया. यह एक ऐसा मुद्दा है जिससे हजारों भारतीयों के जीवन पर असर पड़ सकता है.

बिस्वाल ने कहा कि मेरा मानना है कि एच-1 बी का मुद्दा तनाव का स्रोत बनने जा रहा है. उनकी टिप्पणी इन खबरों के बीच आई है कि ट्रंप प्रशासन एच-1 बी वीजा के खिलाफ कदम उठा रहा है और इस संबंध में अमेरिकी कांग्रेस में दर्जनों विधेयक पेश किए गए हैं. पूर्ववर्ती ओबामा प्रशासन की राजनायिक ने इस मुद्दे पर तर्कसंगत संवाद का आह्वान किया.

भारत-अमेरिका संबंधों में तनाव का वजह हो सकता है एच-1 बी वीजा: बिस्वाल
Photo- getty Images

उन्होंने कहा कि हम सभी इस बात पर सहमत हो सकते हैं कि एच-1 बी कार्यक्रम अमेरिकी और विदेशी कंपनियों की मदद करने में महत्वपूर्ण और आवश्यक रहा है कि वे उच्च कौशल वाले कर्मियों की कमी को पूरा कर सकें और इसलिए इससे अमेरिकी अर्थव्यवस्था को काफी लाभ मिला है.

बिस्वाल ने कहा लेकिन हम सब इस बात पर भी सहमत हो सकते हैं कि कई बार इसका दुरपयोग और आवश्यकता से ज्यादा उपयोग हुआ है. कुछ समीक्षाएं यह सुनिश्चित करने में मददगार होंगी कि कार्यक्रम का इस्तेमाल आवश्यकता के अनुरूप हो, न कि इसका दुरपयोग हो.

First published: March 12, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp