कश्मीर में आतंकियों को शह देता है हाफिज सईद, इस ऑडियो से हुआ था खुलासा


Updated: January 31, 2017, 9:06 AM IST

Updated: January 31, 2017, 9:06 AM IST
मुंबई हमले के मास्टरमाइंड और जमात-उद-दावा के सरगना हाफिज सईद को पाकिस्तान सरकार ने लाहौर में नजरबंद कर दिया है. हाफिज कश्मीर में आतंक फैलाने वाले आकाओं में से एक है. इसका सबूत आतंकी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद सामने आए एक ऑडियो में भी मिला था.

हिजबुल मुजाहिद्दीन कमांडर बुरहान वानी की 8 जुलाई 2016 को सेना के साथ हुई मुठभेड़ में मौत हुई थी. सुरक्षाबलों के हाथों मारा गया आतंकी बुरहान वानी हाफिज सईद के संपर्क में था. उसी के कहने पर वो घाटी में आतंकवाद की दुकान चला रहा था.

खुफिया सूत्रों से मिले ऑडियो क्लिप में बुरहान वानी और हाफिज सईद के बीच कैद बातचीत इसी ओर इशारा करती दिखी. इस ऑडियो के सामने आने के बाद ये साफ हो गया था कि जिस बुरहान को बेगुनाह बताकर कश्मीर में अशांति फैलाई गई थी, वो सिर्फ हिजबुल मुजाहिद्दीन का पोस्टर ब्वॉय ही नहीं बल्कि हाफिज सईद का कश्मीर में  आतंक फैलाने का जरिया था.

ट्रंप के डर से हाफिज सईद को किया नजरबंद

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के आतंकवाद के प्रति सख्त रुख से पाकिस्तान सहम गया है. पाकिस्तानी सरकार ने आज रात अचानक मुंबई हमले के मास्टरमाइंड और जमात-उद-दावा के सरगना हाफिज सईद को लाहौर में नजरबंद कर दिया.  उसके संगठन ने यह जानकारी दी है. संगठन के अनुसार पंजाब सरकार के गृह विभाग ने सईद की नजरबंदी का आदेश जारी किया और लाहौर पुलिस ने चौबुरजी स्थित जमात-उद-दावा मुख्यालय पहुंचकर इस आदेश को क्रियान्वित किया.

जमात-उद-दावा के पदाधिकारी अहमद नदीम ने बताया कि सईद ‘मस्जिद-ए-कदसिया चौबुरजी’ में है और बड़ी संख्या में पुलिस बल ने जेयूडी मुख्यालय को घेर रखा है. नदीम ने कहा कि पुलिस अधिकारी ने हमें बताया कि उसके पास जेयूडी प्रमुख को नजरबंद करने का आदेश है जिसे पंजाब के गृह विभाग ने जारी किया है. पंजाब सरकार ने यह कदम उस वक्त उठाया गया है जब ट्रंप प्रशासन की ओर से आतंकवाद को लेकर कदम उठाने का दबाव बढ़ा है.

अमेरिका ने इस्लामाबाद से स्पष्ट कह दिया है कि जेयूडी और सईद के खिलाफ कार्रवाई नहीं होने की स्थिति में पाकिस्तान को प्रतिबंधों का सामना करना पड़ सकता है. जेयूडी लश्कर-ए-तैयबा का मुखौटा संगठन है. लश्कर 2008 के मुंबई हमले सहित कई आतंकवादी घटनाओं के लिए जिम्मेदार है. संयुक्त राष्ट्र ने जून, 2014 में जेयूडी को विदेशी आतंकवादी संगठन घोषित किया था.
First published: January 31, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर