राजनाथ के बयान से बौखलाया हाफिज सईद, नवाज-अजीज को घेरा

News18India
Updated: December 19, 2016, 3:04 PM IST
News18India
Updated: December 19, 2016, 3:04 PM IST
कराची। मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड और आतंकी संगठन जमात-उद-दावा के सरगना हाफिज सईद ने एक बार फिर भारत के खिलाफ जहर उगला है। उसके भाषण में गृहमंत्री राजनाथ सिंह के बयान का डर साफ झलक रहा है। हाफिज ने पाकिस्तान सरकार को राजनाथ के बयान का जवाब ना देने पर पीएम नवाज शरीफ और सरताज अजीज को डरपोक तक करार दिया।

कराची में हाफिज ने तीखा भाषण देते हुए कहा, कश्मीर में क्या हो रहा है? ये सबसे बड़ा मसला है। हिंदू दरिंदों ने लाखों मुसलमान शहीद कर दिए। किसी ने नहीं पूछा, कोई इनको दहशतगर्द नहीं कहता। क्या इंडिया दहशत गर्द स्टेट नहीं है? इसका (भारत) वजीरे आजम ढाका में खड़ा होकर मेडल वसूल करता है और कहता है कि मैंने मशरकी पाकिस्तान काटा था। मैंने इस मुल्क को 2 टुकड़े किया था। कहता है कि मेरा खून भी इसमें शामिल है। वो मेडल वसूल कर रहा है। पाकिस्तान तोड़ने का जुर्म खुलेआम दुनिया के सामने बयान कर रहा है। क्या ये दहशतगर्दी नहीं है? सलामती कांफ्रेंस हरकत में क्यों नहीं आई? यूनाइटेड नेशन के एजेंडा पर ये मसला क्यों नहीं खड़ा किया गया?

हाफिज ने कहा,  इंडिया का वजीर-ए-दाखिला (गृह मंत्री राजनाथ सिंह) जम्मू के कठुआ में खड़े होकर कहता है कि अभी तो हमने पाक के 2 टुकड़े किए अभी 10 टुकड़े करने हैं। ये आम आदमी नहीं बात कर रहा है। ये इंडिया का वजीर-ए-दाखिला कह रहा है? क्या सारी दुनिया के मीडिया में ये बात नहीं गई? किसने जवाब दिया? इस्लामाबाद क्यों खामोश रहा? सरताज अजीज ने क्यों कुछ नहीं कहा? और जब हम बोलते हैं तो कहते हैं के ये दहशतगर्द हैं? जब हुकुमतें गूंगी बहरी हो जाएं, इनके दिल पत्थर हो जाएं, इनको अपने मुल्क का मखाद भी नजर न आए फिर तो बोलना ही पड़ता है।

हमने बड़ा इंतेजार किया था कि देखें राजनाथ का जवाब क्या आता है? सरकारी सतह पर इनको तो सिर्फ दोस्ती चाहिए। सिंध में भी अगर हमने ये बिल पास किया तो इंडिया खुश हो जाएगा। नवाज शरीफ खामोश, सरताज अजीज खामोश रहता है। जब सूरते हाल यहां तक पहुंचा हो तो क्या किया जाए? हम बोलेंगे। मुझे नहीं परवाह, तुम मुझे हजार बार दहशतगर्द कहो, मैं इंशाअल्लाह अपनी जान इस्लाम के लिए कुर्बान करने के लिए तैयार हूं।
First published: December 19, 2016
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर