चीन का ट्रंप को जवाब, हमने अमेरिका का ड्रोन चुराया नहीं पकड़ा है

भाषा

Updated: December 20, 2016, 9:31 AM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

बीजिंग। चीन ने अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के इस आरोप का खंडन किया कि उसने अमेरिकी ड्रोन चुरा लिया। उसका कहना है कि विवादास्पद दक्षिण चीन सागर में नौवहन की स्वतंत्रता यानी सुरक्षित नौवहन को नुकसान पहुंचने से रोकने के लिए ड्रोन को पकड़ लिया गया था। चीन यह भी दावा करता है कि इस क्षेत्र में अमेरिका चीनी तट पर जासूसी कर रहा है।

चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने मीडिया ब्रीफिंग में ट्रंप के आरोप पर पलटवार करते हुए कहा है कि हमें चोरी जैसा शब्द पसंद ही नहीं आया। यह सही भी नहीं है। ट्रंप ने ट्वीट किया था कि चीन ने अंतरराष्ट्रीय समुद्री क्षेत्र में अमेरिका की नौसेना के अनुसंधान ड्रोन को चुराया और उसे अपने यहां ले गया जो एक अप्रत्याशित कदम है। उनके दावे से कुछ घंटे पहले चीन सरकार ने कहा था कि वह इस घटना के संबंध में अमेरिका की सेना के संपर्क में है।

चीन का ट्रंप को जवाब, हमने अमेरिका का ड्रोन चुराया नहीं पकड़ा है
चीन ने अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के इस आरोप का खंडन किया कि उसने अमेरिकी ड्रोन चुरा लिया।

हुआ चुनयिंग ने कहा कि दोनों सेनाएं इस मुद्दे को सुचारू ढंग से देख रही हैं। उन्होंने अमेरिका के इस आरोप का भी खंडन किया कि चीनी नौसेना के जहाज ने अमेरिकी सर्वेक्षण जहाज यूएसएनएस बोवडिच से संदेश मिलने के बाद भी इस ड्रोन को पकड़ लिया और वह उसे ले गया। यह ड्रोन यूएसएनएस बोवडिच के नियंत्रण में ही उड़ान पर था।

हुआ चुनयिंग ने कहा है कि वाकई क्या हुआ, उसके बारे में आप रक्षा मंत्रालय के बयान से देख सकते हैं कि चीनी नौसेना को यह अज्ञात उपकरण नजर आया और उसने उसका सत्यापन करने के लिए बिल्कुल पेशेवर तरीके से परीक्षण किया।

First published: December 20, 2016
facebook Twitter google skype whatsapp