जनसंख्या वृद्धि में हिंदू तीसरे नंबर पर, 2050 तक सबसे अधिक मुसलमान भारत में होंगे

Updated: March 3, 2017, 12:26 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

2050 तक भारत दुनिया का सबसे अधिक मुस्लिम आबादी वाला देश बन जाएगा. अमेरिका के एक रिसर्च सेंटर के जरिए जारी की गई रिपोर्ट में ये दावा किया गया है.

वाशिंगटन स्थित "प्यू रिसर्च सेंटर" ने हाल ही में "द फ्यूचर ऑफ वर्ल्ड रिलीजन" नामक रिपोर्ट प्रकाशित की है. इसके मुताबिक, 2010 से 2050 के बीच मुस्लिमों की जनसंख्या में 73 प्रतिशत की बढ़ोतरी होगी.

जनसंख्या वृद्धि में हिंदू तीसरे नंबर पर, 2050 तक सबसे अधिक मुसलमान भारत में होंगे
Photo: Getty Image

ईसाइयों की जनसंख्या में 35 प्रतिशत की दर से वृद्धि होगी. ये दर पिछले कुछ सालों के मुकाबले लगभग समान ही है. जनसंख्या वृद्धि दर में हिंदू तीसरे स्थान पर हैं, जिनकी आबादी 34 प्रतिशत की दर से बढ़ रही है.

मुस्लिम आबादी यदि इसी दर से बढ़ती है तो 2050 तक भारत में मुसलमानों की जनसंख्या 30 करोड़ हो जाएगी. जो दुनिया में किसी भी देश के मुकाबले सबसे अधिक होगी.

इस्लाम दुनिया का सबसे तेजी से बढ़ता हुआ धर्म है. यदि इसकी मौजूदा वृद्धि दर 2050 के बाद भी बरकरार रही तो 2070 तक दुनिया में सबसे ज्यादा लोग मुस्लिम समुदाय के होंगे. जिनकी कुल संख्या 2.8 अरब होगी.

"प्यू रिसर्च सेंटर" की रिपोर्ट के मुताबिक, 2010 तक दुनिया में मुसलमानों की आबादी 1.6 अरब थी. फिलहाल इंडोनेशिया में दुनिया की सर्वाधिक मुस्लिम आबादी रहती है.

अमेरिका और यूरोप मे भी बढ़ेंगे मुसलमान

अमेरिका और यूरोप में भी मुस्लिम जनसंख्या में वृद्धि होगी. फिलहाल अमेरिका में कुल जनसंख्या का करीब एक प्रतिशत हिस्सा मुस्लिम आबादी का है. 2050 में ये प्रतिशत बढ़कर 2.1 हो जाएगा. मुस्लिम देशों से दूसरे देशों में जाने वाले इमीग्रेंट्स की वजह से यूरोप में भी मुस्लिम धर्म मानने वाले लोगों की संख्या में बढ़ोतरी होगी.

First published: March 3, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp